July 2018

निरीक्षण में नदारद मिले 13 शिक्षक

bsa ke nirikshan me 13 shikshak nadarad mile


दो शिक्षामित्र और तीन अनुदेशक भी रहे गायब, पांच शिक्षक विलंब से पहुंचे स्कूल1


अंबेडकरनगर : बेसिक शिक्षा अधिकारी अतुल सिंह ने शनिवार को अकबरपुर तथा जलालपुर तहसील के विद्यालयों का निरीक्षण किया। वहीं दूसरी तरफ खंड शिक्षा अधिकारियों ने भी कई विद्यालयों का निरीक्षण किया। इसमें 13 शिक्षक अनुपस्थित मिले इसके अलावा पांच शिक्षक विलंब से आए और दो शिक्षामित्र अनुपस्थित मिले साथ ही तीन अनुदेशक भी अनुपस्थित पाए गए।


इनमें से सभी शिक्षकों का एक दिन का वेतन काटा गया और विलंब से आए शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा गया। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने शनिवार को उच्चतर प्राथमिक विद्यालय शाहपुर का सलेमपुर का निरीक्षण किया। इसमें सरोज कुमारी सहायक अध्यापिका, चंद्रकला सहायक अध्यापिका, सत्येंद्र सिंह, मीरा देवी, ¨बदु कुमारी एवं देवेंद्र कुमार विलंब से आए। उपरोक्त तीनों अनुदेशक अनुपस्थित पाए गए वहीं उच्चतर प्राथमिक विद्यालय सलाहुद्दीपुर के प्रधानाध्यापक कुलभूषण उपाध्याय, सहायक अध्यापिका मोहनी वर्मा तथा शिक्षामित्र विश्वनाथ शुक्ला भी विलंब से स्कूल पहुंचे। वहीं दूसरी तरफ खंड शिक्षा अधिकारी अकबरपुर वीरेंद्र नाथ द्विवेदी निरीक्षण किया गया। इसमें अशोक कुमार प्राथमिक विद्यालय मखदूमपुर बिना अवकाश प्रार्थना पत्र दिए ही गायब रहे।

bsa ke nirikshan me 13 shikshak nadarad mile

सहायक अध्यापिका शबनम भी बिना सूचना के अनुपस्थित रहे। इसमें प्रधानाध्यापक विनय कुमार वर्मा विश्रमपुर के प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापक ज्ञानप्रकाश, उच्चतर प्राथमिक विद्यालय बिश्रमपुर के सहायक अध्यापक प्रभात रंजन भी गायब रहे। खंड शिक्षा अधिकारी जहांगीरगंज श्रवण कुमार यादव द्वारा प्राथमिक विद्यालय रामपुर रामपट्टी के प्रधानाध्यापक अमरजीत भी अनुपस्थित मिले। खंड शिक्षा अधिकारी अकबरपुर चंद्रभूषण पांडेय के निरीक्षण में उच्चतर प्राथमिक विद्यालय सिझौलिया कटेहरी के राजीव गौतम तथा प्राथमिक विद्यालय बहोरिकपुर सालिकराम हस्ताक्षर बनाकर अनुपस्थित रहे। इस बाबत जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि विद्यालय का निरीक्षण लगातार किया जाएगा। अनुपस्थित शिक्षकों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाना मुख्य ध्येय है।

डेंगू-मलेरिया रोगियों के लिए अलग वार्ड

dengu ke liye alag ward


मरीजों के लिए जिला चिकित्सालय में एक वार्ड तथा पीएचसी व सीएचसी पर 10-10 बेड आरक्षित

अंबेडकरनगर : जेई, डेंगू व मलेरिया जैसी संक्रामक बीमारी से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग की तैयारी प्रारंभ हो गई है। इसमें सर्वप्रथम मलेरिया सप्ताह मनाया गया। इसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को जानकारी देने के साथ ही विभाग ने जिला चिकित्सालय में एक वार्ड तथा पीएचसी व सीएचसी पर 10-10 बेड आरक्षित किये जाएंगे।


वहीं रोगियों की जांच के लिए जिला चिकित्सालय में पैथालॉजी के अलावा निजी संस्था चंदन डायग्नोसिस्ट सेंटर को भी सरकार ने संबद्ध किया गया है। इतना ही नहीं स्वास्थ्य केंद्रों पर मरीजों के जांच के लिए व्यवस्था सुद्ढ़ किया जाएगा। स्वास्थ्य केंद्रों के आसपास व नालियों में दवाओं का नियमित छिड़काव करने का निर्देश दिया गया है। इसमें लापरवाही से किसी भी मरीज की मौत होती है तो संबंधित के विरूद्ध कार्रवाइ भी की जाएगी। इस बावत प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सालिकराम पासवान ने जानकारी देते हुए बताया कि संक्रामक रोगों के खात्मे के लिए गांवों में सफाई के लिए जिला पंचायतराज विभाग तथा शुद्ध पेयजल मुहैया कराने के लिए जल निगम को जिम्मेदारी सौंपी गई है। इस दौरान खराब हैंडपंप की मरम्मत भी किया जाएगा। उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक तथा बेसिक शिक्षा अधिकारी को प्रत्येक विद्यालय में एक-एक शिक्षक को वेक्टर जनित रोगों से बचाव की जानकारी देने के लिए नामित करने को कहा गया है। जो बच्चों को सफाई के साथ उक्त् रोगों के बचाव के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे। डेंगू नियंत्रण कक्ष बनाने के साथ स्वास्थ्य केंद्रों पर 10-10 मच्छरदानी सहित बेड को आरक्षित कर दवाओं का स्टाक भी सुरक्षित किया जा रहा है। दवा व मशीनों की व्यवस्था पूर्ण कर ली गई है और छिड़काव भी शुरू किया जाएगा। इस अभियान के तहत प्रत्येक रविवार को ड्राई डे मनाया जाएगा। इस दिन अपने कूलर, गमलों, फ्रिज के ट्रे में पानी को बदलें एवं घरों के आसपास जमे पानी को हटाएंगे। सीएमओ ने बताया कि मलेरिया, डेंगू व अन्य संक्रामक रोग से लापरवाही में मौत भी हो सकती है, इसलिए सभी अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए उक्त रोगों के प्रति सचेत, सर्तक व जागरूक रहें।
dengu ke liye alag ward

जिला चिकित्सालय में आरक्षित डेंगू वार्ड में बंद ताला ’ जागरणस्कूली बच्चों को सफाई के प्रति किया जागरूक


स्किल से स्वच्छता पखवाड़े के तहत जनशिक्षण संस्थान द्वारा प्राथमिक विद्यालय पतौना में छात्रों को साफ-सफाई के प्रति जागरूक किया गया। इस मौके पर ग्राम प्रधान विनोद कुमार सिंह ने कहा कि स्वच्छता हमारे शरीर को स्वाथ्य रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। हमें अपने घरों के आसपास सफाई रखनी चाहिए इससे संक्रामक रोग फैलने की अंशका नहीं रहती है। खाना खाने से पूर्व हाथ अवश्य धुलें। संस्थान के निदेशक अरूण कुमार शाही ने सभी बच्चों से सफाई के साथ पेड़-पौधों की देखभाल करने के प्रति जागरूक किया। इस मौके पर प्रधानाचार्य किरन, अभय कुमार, रेखा वर्मा, चेतन सक्सेना, शंभूलाल मौर्य, देवेश मिश्र आदि मौजूद रहे। संस्थान द्वारा 29 जुलाई को आनंद नगर केंद्र पर व्यवसायिक कार्यक्रम प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा।

अब यूपी बोर्ड के बच्चे भी बोलेंगे फर्राटेदार अंग्रेजी

ab up board ke bachche bhi bolenge farratedar english


जिला विद्यालय निरीक्षक आरबीएस चौहान ने बनाई कार्ययोजना, शीघ्र होगा शिक्षकों का प्रशिक्षण

ab up board ke bachche bhi bolenge farratedar english

फैजाबाद : माना जाता है कि यूपी बोर्ड से पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्रओं की अंग्रेजी कमजोर होती है। इसी मिथक को तोड़ने की कोशिश में इन दिनों जिला विद्यालय निरीक्षक आरबीएस चौहान जुटे हैं। खुद केंद्रीय विद्यालय में शिक्षक रहे चौहान ने गत दिनों कई विद्यालयों का निरीक्षण किया तो यह बात उनके ध्यान में आया कि बच्चे अंग्रेजी बोल नहीं पाते। उन्होंने बच्चे अंग्रेजी में ठीक तरह से बोल सके, इसकी रणनीति तैयार की। योजना के अनुसार जल्द ही जिला स्तर पर अंग्रेजी के टीचर्स की कार्यशाला होगी। इसमें बच्चों को पढ़ाने व उन्हें अंग्रेजी बोलना सिखाने की कला बताई जाएगी। जिला विद्याल निरीक्षक ने बताया कि सहायता प्राप्त, राजकीय व वित्तविहीन विद्यालयों के अंग्रेजी भाषा के टीचर्स की कार्यशाला का आयोजन हो रहा है। इसमें सभी शिक्षकों को रहना अनिवार्य है।

प्रमाण पत्र जांच से खुलेगी फर्जी शिक्षकों की पोल

pramaan patra jaanch se khulegi farzi shikshakon ki pol



जागरण संवाददाता, गोरखपुर : फर्जी शिक्षकों को चिन्हित करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग अब सभी शिक्षकों के विशिष्ट बीटीसी, बीटीसी, अन्य प्रशिक्षण योग्यता व टीईटी परीक्षा के अंकों का सत्यापन कराएगा।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखकर शिक्षकों का प्रशिक्षण प्रमाण पत्र व अंकपत्र उपलब्ध कराने को कहा है। अंकपत्रों व प्रमाण पत्रों की प्रमाणित छायाप्रति भी मंगायी जा रही है। ये सभी प्रमाण पत्र सचिव परीक्षा नियामक इलाहाबाद को भेजे जाएंगे। वहीं इन प्रमाण पत्रों की सत्यता की जांच होगी। बीएसए भूपेंद्र नारायण सिंह ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारियों को शिक्षकों का नाम, उनके पिता का नाम, रोल नंबर, परीक्षा, बैच, उत्तीर्ण वर्ष, प्राप्तांक व पूर्णाक आदि उपलब्ध कराना होगा।
pramaan patra jaanch se khulegi farzi shikshakon ki pol
स्नातक व परास्नातक प्रमाण पत्रों की भी होगी जांच


प्रशिक्षण प्रमाण पत्रों की जांच के बाद स्नातक व परास्नातक प्रमाण पत्रों की भी जांच करने की तैयारी है। एक बार सभी अध्यापकों के प्रमाण पत्रोंे की जांच करने की योजना है।

44 केंद्रों पर आज होगी एलटी ग्रेड की परीक्षा

44 kendron par aaj hogi lt grade pariksha


परीक्षा संपन्न कराने को सुरक्षा व्यवस्था के हैं कड़े इंतजाम


गोरखपुर : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सहायक अध्यापक प्रशिक्षित स्नातक (एलटी ग्रेड) परीक्षा रविवार को महानगर के 44 केंद्रों पर संपन्न होगी। सीसीटीवी युक्त इंटर एवं डिग्री कॉलेजों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है। इन केंद्रों पर 20362 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। जनपद में गणित विषय की परीक्षा होगी। परीक्षा को सकुशल संपन्न कराने के लिए सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

सुबह 11.30 बजे से 1.30 बजे तक होगी परीक्षा: एलटी ग्रेड परीक्षा सुबह 11.30 बजे से दोपहर बाद 1.30 बजे तक होगी। परीक्षा में प्रश्नपत्र पहुंचाने व लाने के लिए 16 सेक्टर मजिस्ट्रेट लगाए गए हैं। इनके साथ दो-दो कांसटेबल की ड्यूटी भी लगाई गई है। एडीएम सिटी रजनीश चंद्र ने बताया कि परीक्षा में 20362 अभ्यर्थियों को शामिल होना है। तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। अभ्यर्थियों को परीक्षा शुरू होने से आधे घंटे पहले परीक्षा हाल में प्रवेश करना होगा। 16 सेक्टर मजिस्ट्रेट के अलावा तीन जोनल मजिस्ट्रेट व 44 स्टेटिक मजिस्ट्रेट लगाए गए हैं।
44 kendron par aaj hogi lt grade pariksha

यह लेकर न जाएं: पूरी तरह से जांच के बाद ही परीक्षा हॅाल में प्रवेश करने दिया जाएगा। परीक्षा के दौरान मोबाइल फोन, कोई भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। प्रवेश पत्र को छोड़कर अन्य कोई कागज लेकर न जाएं।तीन सीओ, 16 एसओ संभालेंगे सुरक्षा की कमान


एसएसपी शलभ माथुर के अनुसार परीक्षा में अभ्यर्थियों की संख्या को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा व्यवस्था में तीन सीओ व 16 एसओ को लगाया गया है। हर केंद्र पर एक दरोगा व एक हेड कांसटेबल को तैनात किया जा रहा है। उनके साथ तीन सिपाही व दो महिला सिपाही भी तैनात होंगी। अभ्यर्थियों की संख्या को देखते हुए बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम होंगे। सभी तिराहे व चौराहे पर यातायात पुलिस तैनात रहेगी। परीक्षा पर एसटीएफ की भी नजर है।

बच्चों को स्कूल में ही बंद कर चले गये गुरु जी

bachchon ko school me hi band karke chal gaye guruji


वीडियो वायरल, प्रधानाचार्य शिक्षक के खिलाफ तहरीर


ताला तोड़कर बच्चों को बाहर निकाला गया

bachchon ko school me hi band karke chal gaye guruji

ब्यूरोबरेली, गुरुपूर्णिमा के अवसर पर नबाबगंज तहसील के रिछोला गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय में बड़ी लापरवाही सामने आई है। एक दर्जन बच्चों को अंदर ही छोड़कर स्कूल में ताला जड़ दिया गया। ग्रामीणों ने रो रहे बच्चों को देखकर पुलिस में स्कूल के खिलाफ शिकायत की और वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। शुक्रवार दोपहर 12 बजे स्कूल की छुट्टी होने के बाद शिक्षक स्कूल के गेट पर रोज की तरह ताला डालकर चले गए, लेकिन स्कूल में करीब एक दर्जन बच्चे रह गए थे। बच्चों की चीख पुकार सुन ग्रामीण इकट्ठे हो गए और करीब दो घंटे बाद ताला तोड़कर बच्चों को बाहर निकाला गया। आक्रोशित ग्रामीणों ने नबाबगंज थाने में स्कूल के प्रधानाचार्य और सहायक अध्यापक के खिलाफ तहरीर दी है। एसपी ग्रामीण डा. सतीश कुमार कहा कि संज्ञान में मामला आया है, तहरीर के आधार पर जांच की जा रही है। दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती  2018 की लिखित परीक्षा में माइनस मार्किंग प्रणाली

lt grade shikshak bharti pariksha 2018 ki likhit pariksha me minus marking pranali


lt grade shikshak bharti pariksha 2018 ki likhit pariksha me minus marking pranali

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा: 144 केन्द्रों पर 65 हजार महिला अभ्यर्थी देंगी परीक्षा

lt grade shikshak-bharti pariksha: 144 kendron par 65 hajar mahila abhyarthi degi pariksha

lt grade shikshak-bharti pariksha: 144 kendron par 65 hajar mahila abhyarthi degi pariksha


पुरानी पेंशन बहाली को गरजे शिक्षक

purani pension bahali ko garaje sikshak


डीआइओएस कार्यालय पर दिया धरना, सौंपा मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन


राजकीय शिक्षकों ने दिया धरना1संसू प्रतापगढ़ : राजकीय शिक्षक संघ ने तीन माह से वेतन न दिए जाने को लेकर शनिवार को जीआइसी में धरना दिया। शिक्षकों ने कहा कि प्रदेश सरकार के एक साल का कार्यकाल पूरा हो चुका है। तीन माह से राजकीय शिक्षकों को वेतन नहीं मिल सका। ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है। धरने को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष नसरत अली ने कहा कि नियमित रूप से वेतन न मिलने से शिक्षकों एवं कर्मचारियों को आर्थिक संकट से जूझना पड़ता है। इस दौरान संतोष मिश्र, अशोक मौर्य, बीआर सिंह, राजेंद्र यादव, अभिमन्यु यादव, धनंजय सिंह, चमन प्रताप, सरोज कुमार, सैयद अली आदि मौजूद रहे।


प्रेरकों ने फूंका बीएसए का पुतला


प्रतापगढ़ : बकाया मानदेय की मांग को लेकर प्रेरकों ने शनिवार को बीएसए कार्यालय परिसर में बीएसए का पुतला फूंका। प्रेरक वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष सत्यवान सिंह ने कहा कि शासन से प्रेरकों से संबंधित 22 ¨बदु की सूचना मांगी गई थी। उन्होंने कहा कि बीएसए ने 2210 प्रेरकों के स्थान पर बीएसए ने सिर्फ 550 केंद्रों की सूचना ही निदेशालय को भेजी है जबकि 556 प्रेरकों की सूचना यहां से नहीं भेजी गई। प्रदेश महासचिव मो.वसीम ने कहा कि प्रेरकों का 40 माह का मानदेय नहीं मिला है। सभी प्रेरकों की सूचना निदेशालय न भेजी गई तो बीएसए कार्यालय में आत्मदाह किया जाएगा। इस मौके पर मीडिया प्रभारी मनोज शर्मा, कमलेश पांडेय, पवन मिश्र, विजय चक्रवर्ती, शिव कुमार, सुषमा पांडेय, शैलेंद्र त्रिपाठी, नीलम, वंदना, शिव बहादुर, सीमा आदि मौजूद रहीं।
purani pension bahali ko garaje sikshak


प्रतापगढ़ : माध्यमिक शिक्षक संघ के लोगों ने शनिवार को जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर धरना देकर आवाज बुलंद की। धरने का नेतृत्व करते हुए अनिल कुमार सिंह ने कहा कि जो पुरानी पेंशन को बहाल करेगा वही दिल्ली पर राज करेगा। उन्होंने कहा कि शिक्षकों के निरीक्षण एवं मूल्यांकन की राशि भेजवा दी गई है, शिक्षकों के विनियमितीकरण की मांग पुरजोर तरीके से उठाई जा रही है। प्रांतीय कार्यकारिणी सदस्य रामचंद्र सिंह,संरक्षक राज किशोर शुक्ल राज्य परिषद सदस्य विनोद कुमार सिंह, संघर्ष समिति संयोजक राजेश त्रिपाठी ने कहा कि शिक्षकों की समस्याएं संगठन उठा रहा है। इस मौके पर दीनानाथ पांडेय, रामराज मिश्र, सुरेश कुमार तिवारी, अशोक द्विवेदी, आशीष सिंह, कर्मवीर सिंह, अंसार अहमद, अरुण मिश्र, विवेक शुक्ला, उमाकांत त्रिपाठी, राकेश शुक्ला, शिव शंकर त्रिपाठी, बद्री विशाल, हरि प्रसाद मिश्र, विद्यासागर द्विवेदी, सुभाष राजभर, मीडिया प्रभारी संजय कुमार श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे। संचालन जिला मंत्री आलोक कुमार शुक्ल ने किया। धरने के उपरांत मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिला विद्यालय निरीक्षक को सौंपा गया।


जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर धरने के दौरान बोलते शिक्षक नेता विनोद कुमार सिंह।बकाया मानदेय की मांग को लेकर कार्यालय परिसर में बीएसए का पुतला फूंकते प्रेरक।

एलटी ग्रेड शिक्षक परीक्षा आज रहेगी शासन की नजर

lt grade shikshak pariksha aaj rahegi shaasan ki nazar

  
प्रतापगढ़ : जिले के 11 परीक्षा केंद्रों पर रविवार को होने वाली एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा पर शासन की नजर रहेगी। प्रमुख सचिव ने शनिवार को एनआइसी में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए जिला विद्यालय निरीक्षक को इस संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिया। जिला प्रशासन द्वारा सभी परीक्षा केंद्रों पर एक दारोगा, दो महिला सिपाही व दो सिपाही की तैनाती की गई है।


लोक सेवा आयोग द्वारा पहली बार राजकीय विद्यालयों में शिक्षक पद के लिए लिखित परीक्षा का आयोजन प्रतापगढ़ जिले में किया गया है। यह परीक्षा साढ़े ग्यारह बजे से डेढ़ बजे तक होगी। इसमें कुल 5088 परीक्षार्थी शामिल होंगे। जिन विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है इनमें जीआइसी प्रतापगढ़, जीजीआइसी, तिलक इंटर कालेज, न्यू एंजिल्स सीनियर सेकेंड्री स्कूल, सरोजनी इंटर कालेज, आनंद वन पब्लिक स्कूल, बृजेंद्र मणि इंटर कालेज कोंहड़ौर, मालती इंटर कालेज, केपी हंिदूू इंटर कालेज, संत एंथोनी इंटर कालेज, साकेत गल्र्स पीजी कालेज शामिल है।

lt grade shikshak pariksha aaj rahegi shaasan ki nazar

इन परीक्षा केंद्रों में नकल विहीन परीक्षा संपादित कराने के लिए 11 पर्यवेक्षक, 11 स्टेटिक मजिस्ट्रेट, 3 जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती डीएम ने की है। जिला विद्यालय निरीक्षक एसपी यादव ने बताया कि परीक्षा को शांति पूर्ण एवं निष्पक्ष रुप से संपादित कराने की सारी तैयारी पूरी हो गई है।

दो स्टेटिक मजिस्ट्रेट बदले 1जिला विद्यालय निरीक्षक ने न्यू एंजिल्स सीनियर सेकेंड्री स्कूल व साकेत गल्र्स इंटर कालेज के स्टेटिक मजिस्ट्रेट को बदल दिया है। एंजिल्स में पूर्व में चकबंदी अधिकारी राकेश कुमार को स्टेटिक मजिस्ट्रेट बनाया गया था, अब यहां नायब तहसीलदार पट्टी राजकपूर को यह जिम्मेदारी दी गई है। साकेत गल्र्स इंटर कालेज में पूर्व में लगाए गऐ चकबंदी अधिकारी वासुदेव के स्थान पर नायब तहसीलदार रानीगंज वीरपाल सिंह को स्टेटिक मजिस्ट्रेट बनाया गया है।

एलटी ग्रेड परीक्षा आज, दो दो प्रवेशपत्र किए जारी

Lt grade pariksha aaj, do do praveshpatra kiye jari



इलाहाबाद : एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 कराने की हड़बड़ी में उप्र लोकसेवा आयोग (यूपी पीएससी) की गड़बड़ियां थमने का नाम नहीं ले रही हैं। रविवार को होने वाली लिखित परीक्षा के ऐन मौके पर फिर बड़ी चूक उजागर हुई है। यूपी पीएससी ने सिर्फ परीक्षा केंद्र बदलने वाले अभ्यर्थियों को ही दो-दो प्रवेशपत्र जारी नहीं किए हैं, बल्कि उन परीक्षार्थियों को भी दो प्रवेशपत्र मिले हैं, जिन्होंने अर्हता के विवाद में दो-दो आवेदन किए हैं। सभी को दो पंजीकरण, अनुक्रमांक और परीक्षा केंद्र आवंटित हुए हैं, ऐसे अभ्यर्थियों की तादाद बड़ी संख्या में है।


प्रदेश के राजकीय माध्यमिक कालेजों की एलटी ग्रेड शिक्षक चयन की लिखित परीक्षा पहली बार यूपी पीएससी 29 जुलाई को कराने जा रहा है। कई अभ्यर्थियों को दो प्रवेशपत्र मिलने की नौबत इसलिए आई, क्योंकि हंिदूी, कंप्यूटर, कला सहित कई विषयों की अर्हता को लेकर विवाद रहा है। अभ्यर्थियों ने पहले अनर्ह होने के बावजूद आवेदन किया और बाद में कोर्ट के आदेश पर अर्ह होने पर दावेदारी कर दी। यूपी पीएससी ने ऑनलाइन व ऑफलाइन मिले आवेदन पत्रों की अर्हता व पात्रता को बिना जांचे सभी को प्रवेश पत्र निर्गत कर दिए।1वाराणसी की रश्मि पांडेय ने हंिदूी विषय की परीक्षा देने के लिए दो बार ऑनलाइन आवेदन किया। अब उन्हें दो प्रवेशपत्र मिले हैं। पहले में पंजीकरण संख्या 71308438615 व रोल नंबर 448198 है। उन्हें राजर्षि पुरुषोत्तम दास टंडन इंटर कालेज महेवा गेट हंिदूी विद्यापीठ परिसर इलाहाबाद परीक्षा केंद्र मिला। दूसरे प्रवेशपत्र में पंजीकरण संख्या 7307275107 व रोल नंबर 438276 है।

Lt grade pariksha aaj, do do praveshpatra kiye jari

इसमें उन्हें इंद्रजीत साहू कमला देवी इंटर कालेज ब्लाक बी, जीटी रोड बेगम बाजार बमरौली इलाहाबाद केंद्र मिला है। इससे वह परेशान हैं कि आखिर वह किस केंद्र पर जाकर इम्तिहान दें। रश्मि का कहना है कि ऐसा सिर्फ उनके साथ ही नहीं हुआ है, बल्कि अन्य कई परीक्षार्थी भी दो प्रवेश पत्र लेकर टहल रहे हैं। यूपी पीएससी के सचिव जगदीश ने बताया कि दो प्रवेशपत्र इसलिए जारी हुए हैं कि आवेदन दो बार किया है। पहला 11 अप्रैल को दूसरा 11 जून को। परीक्षार्थी को राजर्षि पुरुषोत्तम दास टंडन केंद्र पर इम्तिहान देना चाहिए। एलटी ग्रेड परीक्षा में दो दिन पहले मोनिका बाजपेई को फैजाबाद जिले में दो प्रवेशपत्र देने का मामला सामने आया था। तब यूपी पीएससी ने कहा था कि परीक्षा केंद्र बदलने से यह स्थिति बनी है।

स्कूल व अस्पताल के पास शराब की दुकानों को हटाने का निर्देश

school v asptaal ke pas sharab ki dukanon ko hatane ka nirdesh


अझुवा, कौशांबी : सैनी कोतवाली क्षेत्र के अझुवा कस्बा स्थित वार्ड नंबर आठ अमिरतापुर मोहल्ले में स्कूल व अस्पताल के समीप शराब व बीयर की दुकान खोली गई है। शिकायत पर डीएम ने चौकी प्रभारी अझुवा को दो दिन के भीतर दुकान कहीं और शिफ्ट करने के निर्देश दिया है।

शराब के चलते हाईवे पर हो रहे हादसों को देखते हुए बीते दिनों शासन ने निर्देश जारी किया था कि हाईवे से करीब पांच सौ मीटर दूर दुकानों को खोला जाए। इसके बाद आबकारी विभाग के अफसरों से सभी दुकानों को हाईवे से दूसरी जगह शिफ्ट कराया। सिराथू तहसील के अझुवा कस्बे में भोला चौराहा पर रही अंग्रेजी व बीयर की दुकान को वार्ड नंबर आठ अमिरतापुर मोहल्ला में शिफ्ट कराई। गौर करने वाली बात यह है कि इस मोहल्ले में दो निजी अस्पतालों के अलावा अभय प्रताप सिंह डिग्री कालेज खुला है। इससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है। आए दिन शराब की दुकान के बाहर नशेड़ी मारपीट करते रहते हैं।

school v asptaal ke pas sharab ki dukanon ko hatane ka nirdesh
इसे देखते ही अस्पताल व कालेज संचालक ने मामले की शिकायत जिलाधिकारी से की थी जिसे डीएम मनीष कुमार वर्मा ने गंभीरता से लेते हुए चौकी प्रभारी अझुवा संजय गुप्ता को निर्देशित किया है।दिन में दुकान कहीं और शिफ्ट करने को कहामीटर लगभग दूर हाईवे से खोली जाएं दुकानें

डीएम के आदेश पर चौकी प्रभारी ने दिया अल्टीमेटम

शराब व बीयर के ठेकेदारों में है हड़कंप का माहौल

शिक्षक बनने की लालच में गंवा दिए 10 लाख

shikshak banane ki lalach me gavan diye 10 lakh


संसू, सोरांव : नौकरी दिलाने के नाम पर फर्जी शिक्षक ने एक युवक से दस लाख रूपए ऐंठ लिए। जब शिक्षक खुद बर्खास्त हो गया तो युवक को अपने ठगे होने का एहसास हुआ। पैसा वापस मांगने पर फर्जी शिक्षक ने उसे जान से मारने की धमकी दी। भुक्तभोगी ने डीएम, डीआइजी, मुख्यमंत्री समेत उच्चाधिकारियों को शिकायती पत्र प्रेषित कर न्याय की गुहार लगाई है।

शिक्षक बनने की लालच में गंवा दिए 10 लाख  संसू, सोरांव : नौकरी दिलाने के नाम पर फर्जी शिक्षक ने एक युवक से दस लाख रूपए ऐंठ लिए। जब शिक्षक खुद बर्खास्त हो गया तो युवक को अपने ठगे होने का एहसास हुआ। पैसा वापस मांगने पर फर्जी शिक्षक ने उसे जान से मारने की धमकी दी। भुक्तभोगी ने डीएम, डीआइजी, मुख्यमंत्री समेत उच्चाधिकारियों को शिकायती पत्र प्रेषित कर न्याय की गुहार लगाई है।1भदोही जनपद के रहने वाले दिनेश कुमार गौतम का आरोप है कि सोरांव के मलाका के आगे स्थित एक गांव के पास रहने वाले एक युवक ने खुद को शिक्षक बताकर उसे भी शिक्षक की नौकरी दिलाने के नाम पर 10 लाख रुपये की मांग किया। उसने बताया कि उसने कई युवकों को शिक्षक की नौकरी दिलाई है। विश्वास में आकर उसने शिक्षक को 10 लाख रुपये दे दिया। कुछ समय बाद जब रुपये लेने वाला शिक्षक खुद फर्जी दस्तावेजों की जांच के आधार पर निलंबित हो गया तो उसे अपने ठगे होने का एहसास हुआ। उसने कुछ दिन पहले जब अपने पैसे की मांग की तो उसने पैसे नहीं देने की बात कहते हुए जान से मारने की धमकी दे डाली। भुक्तभोगी ने मामले की शिकायत अफसरों से की है।
भदोही जनपद के रहने वाले दिनेश कुमार गौतम का आरोप है कि सोरांव के मलाका के आगे स्थित एक गांव के पास रहने वाले एक युवक ने खुद को शिक्षक बताकर उसे भी शिक्षक की नौकरी दिलाने के नाम पर 10 लाख रुपये की मांग किया। उसने बताया कि उसने कई युवकों को शिक्षक की नौकरी दिलाई है। विश्वास में आकर उसने शिक्षक को 10 लाख रुपये दे दिया। कुछ समय बाद जब रुपये लेने वाला शिक्षक खुद फर्जी दस्तावेजों की जांच के आधार पर निलंबित हो गया तो उसे अपने ठगे होने का एहसास हुआ। उसने कुछ दिन पहले जब अपने पैसे की मांग की तो उसने पैसे नहीं देने की बात कहते हुए जान से मारने की धमकी दे डाली। भुक्तभोगी ने मामले की शिकायत अफसरों से की है।

basic shiksha basic shiksha online form 2018 basic shiksha news 12460 basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow zila basic shiksha adhikari basic shiksha adhikari lucknow

एलटी ग्रेड परीक्षा: यूपी समेत अन्य राज्यों के साल्वर गिरोह का जुटने लगा है ब्योरा

Lt grade pariksha: up samet anay rajyon ke solver giroh ka jutane laga hai byora


इलाहाबाद : एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा निगरानी की शासन से मंजूरी मिलते ही एसटीएफ टीमें पूरे प्रदेश में सक्रिय हो गई हैं। यूपी, राजस्थान, मध्य प्रदेश समेत अन्य राज्यों में पहले पकड़े जा चुके सॉल्वर गिरोह तथा उनके संपर्क में रहने वाले उन लोगों की गतिविधियों की निगरानी शुरू हो गई है जो प्रतियोगी परीक्षाएं देकर चयनित हुए और विभिन्न विभागों में अपने सेवाएं दे रहे हैं। परीक्षा से ऐन पहले लॉज और अन्य संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी की तैयारी है।1यूपी पीएससी (उप्र लोकसेवा आयोग) की ओर से 29 जुलाई को प्रदेश के 39 जिलों के 1760 परीक्षा केंद्रों पर होने जा रही सहायक अध्यापक (प्रशिक्षित स्नातक) परीक्षा की सभी तैयारी पूरी हो चुकी है। इसमें नकल और अन्य गड़बड़ी की आशंका है। इसीलिए यूपी पीएससी ने शासन को प्रस्ताव भेजा और परीक्षा नकल विहीन कराने के लिए शासन ने एसटीएफ की मंजूरी भी दी है।

Lt grade pariksha: up samet anay rajyon ke solver giroh ka jutane laga hai byora
आइजी एसटीएफ अमिताभ यश और एसएसपी एसटीएफ से मिले दिशा निर्देशों के बाद टीमों ने पुराने गिरोहों की गतिविधियों का पता लगाना शुरू कर दिया है। लखनऊ, मेरठ, झांसी, इलाहाबाद, आगरा, अलीगढ़, आजमगढ़, हरदोई समेत अन्य अहम जिलों में नकल की अधिक संभावना को देखते हुए एसटीएफ की टीमें सतर्क हैं। एसटीएफ की आधा दर्जन टीमें परीक्षा जिलों में भेजी गई हैं और स्थानीय टीमों का सहयोग लेकर होटलों व लॉज में छापेमारी की तैयारी है। सूत्रों के अनुसार एसटीएफ ने उप्र लोकसेवा आयोग और इसके आसपास अपने सूचना तंत्र को सक्रिय कर दिया है। यहीं से परीक्षा में गड़बड़ी की संभावना अधिक है। यूपी पीएससी से परीक्षा केंद्रों की सूची लेकर एसटीएफ ने उसके आसपास भी सूचना तंत्र को सक्रिय कर दिया है।

upbeb lt grade lt grade biology lt grade vigyapan lt grade syllabus for physics lt grade syllabus for chemistry computer syllabus for lt grade lt grade exam center lt grade social science

फिर अपर निदेशक बेसिक बने विनय

fir apar nideshak bane vinay


राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : प्रदेश के अपर निदेशक बेसिक शिक्षा विनय कुमार पांडेय आखिरकार फिर बहाल हो गए हैं। हाईकोर्ट के आदेश पर शासन ने उन्हें दो फरवरी को सेवा से कार्यमुक्त कर दिया था। अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा संजय अग्रवाल ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। पांडेय ने शिक्षा निदेशालय पहुंचकर कार्यभार ग्रहण कर लिया है।

उप्र लोकसेवा आयोग यानी यूपी पीएससी की पांच साल की भर्तियों की जांच सीबीआइ कर रही है लेकिन, आयोग में गलत चयन के तमाम प्रकरण पहले से हैं। आयोग से पीईएस में चयनित पांडेय को शिक्षा विभाग की सेवा में रहते तीसरी बार कार्यमुक्त होना पड़ा। असल में चार अक्टूबर, 2016 को हाईकोर्ट ने अपने अंतरिम आदेश को निरस्त करके विनय कुमार की याचिका खारिज कर दी थी। उस समय उनके अधिवक्ता कोर्ट में हाजिर नहीं हुए थे। दो फरवरी 2018 को अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा अग्रवाल ने उन्हें सेवा से पृथक करने का आदेश दिया।

fir apar nideshak bane vinay
यह प्रकरण फिर हाईकोर्ट पहुंचा और 13 मार्च, 2018 को कोर्ट ने आदेश दिया कि विनय कुमार को नियुक्ति के पद पर यथावत बनाए रखा जाए। यह आदेश शासन ने न्याय विभाग को भेजा और वहां से रिपोर्ट आने में चार माह लग गए। अपर मुख्य सचिव ने अपने आदेश में हाईकोर्ट के दोनों आदेशों का विस्तार से जिक्र करते हुए निर्देश दिया कि पांडेय को नियुक्ति के पद पर यथावत बनाए रखते हुए सेवा संबंधी सभी लाभ दिए जाएंगे। यह आदेश होते ही पांडेय ने शिक्षा निदेशालय पहुंचकर एडी बेसिक का कार्यभार ग्रहण कर लिया। अभी तक अपर निदेशक बेसिक के पद पर कीर्ति गौतम तैनात रही हैं।

basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow zila basic shiksha adhikari basic shiksha adhikari lucknow


Income Tax: आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि एक माह बढ़ाकर 31 अगस्त कर दी गई है अब आईटीआर 31 अगस्त तक फ़ाइल किया जा सकता है, विज्ञप्ति देखें

Income Tax dakhil karne ki antim date 31 august

Income Tax dakhil karne ki antim date 31 august

शाहजहाँपुर: मध्यान भोजन योजनान्तर्गत अधिकारियों से कराये गये निरीक्षण में पायी गई कमियों के संबंध में ग्रामप्रधान के विरुद्ध कार्यवाही हेतु बीएसए का जिला पंचायत राज अधिकारी को पत्र जारी, देखें

Shahjahanpur - mid-dey-meal sambandhit vigypti

शाहजहाँपुर: मध्यान भोजन योजनान्तर्गत अधिकारियों से कराये गये निरीक्षण में पायी गई कमियों के संबंध में ग्रामप्रधान के विरुद्ध कार्यवाही हेतु बीएसए का जिला पंचायत राज अधिकारी को पत्र जारी, देखें

उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्रों के मामले में हल निकालने के लिए गठित कमेटी में सदस्यों की सूची

shikshamitra ke mamale me hal nikalane hetu gathit cammittee me sadasyon ki suchi

shikshamitra ke mamale me hal nikalane hetu gathit cammittee me sadasyon ki suchi

अवकाश तालिका वर्ष 2018 पीलीभीत - बेसिक शिक्षा परिषदीय/मान्यता प्राप्त/सहायता प्राप्त/ प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों हेतु

basic shiksha parishad avkash talikaa 2018-19 pilibhit


basic shiksha parishad avkash talikaa 2018-19 pilibhit


संशोधित अवकाश तालिका - माध्यमिक विद्यालय अवकाश तालिका - अवकाश तालिका 2018 19 - माध्यमिक शिक्षा परिषद अवकाश तालिका 2018 - उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद अवकाश तालिका 2018 - परिषदीय विद्यालय अवकाश तालिका - अवकाश तालिका 2018 उत्तर प्रदेश - निरस्त अवकाश

बीएड-टीईटी 2011 के मामले में समस्याओं/ मांगों के सभी पहलुओं पर विचार करने हेतु गठित कमेटी के सदस्यों की सूची

बीएड-टीईटी 2011 के मामले में समस्याओं/ मांगों के सभी पहलुओं पर विचार करने हेतु गठित कमेटी के सदस्यों की सूची

इलाहाबाद: सरकारी सेवाओं में दक्षता सुनिश्चित करने के लिए परिषदीय शिक्षक / शिक्षणेत्तर  कर्मचारियों की अनिवार्य सेवानिवृत्त हेतु स्क्रीनिंग के संबंध में विज्ञप्ति, देखें 


इलाहाबाद: सरकारी सेवाओं में दक्षता सुनिश्चित करने के लिए परिषदीय शिक्षक / शिक्षणेत्तर  कर्मचारियों की अनिवार्य सेवानिवृत्त हेतु स्क्रीनिंग के संबंध में विज्ञप्ति, देखें

up government orders 2018 up govt da order 2018 up govt departments up shasanadesh 2018 up shasanadesh 2018 shasanadesh.up.nic.in 2018 up government leave rules up government education department

Sultanpur: शैक्षिक सत्र 2018-19 हेतु अध्यापकों के जनपद के भीतर समायोजन/पारस्परिक स्थानांतरण के संबंध विज्ञप्ति जारी


Sultanpur: शैक्षिक सत्र 2018-19 हेतु अध्यापकों के जनपद के भीतर समायोजन/पारस्परिक स्थानांतरण के संबंध विज्ञप्ति जारी

up government orders 2018 up govt da order 2018 up govt departments up shasanadesh 2018 up shasanadesh 2018 shasanadesh.up.nic.in 2018 up government leave rules up government education department

10768 एलटी ग्रेड भर्ती परीक्षा केंद्र में बदलाव हुआ है अवश्य देखें और लोगों को भी अग्रसारित करें।
10768 Lt Grade bharti pariksha kendron me huaa badlaw
10768 Lt Grade bharti pariksha kendron me huaa badlaw
uppsc admit card uppsc admit card 2018 lt grade teacher latest news in hindi lt grade teacher exam syllabus lt grade latest news today in hindi lt grade written exam date up lt grade teacher exam date up lt grade teacher exam date uppsc.up.nic.in lt grade up lt grade exam syllabus 2017 up lt grade merit list 2017

डीएम ने किया नवलपुर स्कूल का निरीक्षण
Dm ne kiya navalpur school ka nirikshan

विद्यालय में उर्दू में लिखा मिला अभिलेख, प्रधानाध्यापक से मांगा स्पष्टीकरण


सलेमपुर, देवरिया: जिलाधिकारी सुजीत कुमार ने स्थानीय विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कई अभिलेखों में उर्दू में पत्रचार करने तथा स्थानांतरण प्रमाण पत्र के अभिलेख में उर्दू का प्रयोग किए जाने पर नाराजगी जताई। स्कूल का नाम इस्लामियां लिखे जाने का पुराना आदेश मांगा। आदेश की कापी न मिलने पर प्रधानाध्यापक से चौबीस घंटे के अंदर स्पष्टीकरण देने को कहा।


प्राथमिक विद्यालय नवलपुर का नाम इस्लामियां प्राइमरी विद्यालय किये जाने और साप्ताहिक अवकाश का दिन रविवार की जगह शुक्रवार करने तथा शिक्षा का माध्यम उर्दू किये जाने का प्रकरण सुर्खियों में आने के बाद जिलाधिकारी सुजीत कुमार बुधवार को दोपहर बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष कुमार देव पांडे के साथ प्राथमिक विद्यालय नवलपुर पहुंचे। जिलाधिकारी ने प्रधानाध्यापक खुर्शीद अहमद से विद्यालय के पठन-पाठन के बारे में जानकारी मांगी। इस्लामियां स्कूल लिखे जाने तथा उर्दू माध्यम से पढ़ाई करने के बारे में आदेश की कापी मांगी तो प्रधानाध्यापक चुप्पी साध लिये। उन्होंने मौखिक रूप से बताया कि यह विद्यालय 1904 से संचालित है और तभी से उर्दू माध्यम से पढ़ाई हो रही है। उसी परंपरा के अनुसार आज भी संचालित हो रहा है। जिलाधिकारी ने अभिलेख को देखा तो उसमे भी उर्दू भाषा का प्रयोग मिला उसको वे अनुवाद कराने के लिए बीएसए को प्रतिलिपि लेने को कहा।

Dm ne kiya navalpur school ka nirikshan


basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

जिलाधिकारी ने स्कूल का राजस्व अभिलेख में स्थिति की जानकारी ली तो तहसीलदार संजीव कुमार राय ने बताया कि विद्यालय की भूमि केवल स्कूल के नाम से अंकित है। स्कूल पर पहुंचे ग्रामीणों ने बताया कि आजादी के पहले का यह स्कूल है तभी से यहां उर्दू माध्यम से पठन-पाठन होता है। जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी विजय प्रताप सिंह से मनरेगा के बजट से चहारदीवारी और स्कूल में टाइल्स लगाने का आदेश दिया। इस दौरान खंड शिक्षा अधिकारी ज्ञान चंद मिश्र, एबीआरसी देवशरण सिंह आदि उपस्थित रहे।

68500 सहायक अध्यापक भर्ती : 68500 शिक्षक भर्ती के लिए अभ्यर्थियों ने ट्विटर पर छेड़ा अभियान, अपर मुख्य सचिव प्रभात कुमार ने जल्द परिणाम देने की बात कही

68500 shikshak bharti ke liye abhyarthiyon ne twiter par chheda abhiyaan
68500 shikshak bharti ke liye abhyarthiyon ne twiter par chheda abhiyaan

68500 latest news in hindi 68500 latest news today answer key 68500 vacancy current news 68500 shikshak bharti latest news 68500 teacher vacancy latest news 68500 teacher vacancy news today uptet 68500 latest news 68500 high court

पुरानी पेंशन बहाली के लिए एकजुट हों कर्मचारी व शिक्षक
purani pension bahali ke liye ekjut ho karmchari v shikshak

शिक्षक सम्मान समारोह की तैयारियों पर विचार-विमर्श


जागरण संवाददाता, देवरिया : उप्र जूनियर हाईस्कूल पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ की सदर बीआरसी के शिक्षक भवन पर हुई, जिसमें शिक्षकों की समस्याओं को लेकर विचार-विमर्श किया गया। इसके अलावा पांच सितंबर को शिक्षक सम्मान समारोह धूमधाम से मनाने पर भी चर्चा की गई। जिलाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह ने कहा कि पांच सितंबर को शिक्षक सम्मान समारोह धूमधाम से मनाया जाएगा। इसके लिए सभी ब्लाकों के अध्यक्ष व मंत्री शत-प्रतिशत सदस्यता जमा करें। वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष नरेंद्र सिंह ने कहा कि पुरानी पेंशन बहाल करने के लिए सभी कर्मचारी व शिक्षक एकजुट हों।

purani pension bahali ke liye ekjut ho karmchari v shikshak
संघर्ष के बल पर ही इसे हासिल किया जा सकता है। वशिष्ठ राय व लक्ष्मण पासवान ने कहा कि जीपीएफ कटौती की लेखा पर्ची जारी होनी चाहिए। जिला महामंत्री नंदलाल ने जिला कार्यकारिणी में रिक्त पदों पर सर्वसम्मति से मनोनीत पदाधिकारियों के नामों की घोषणा की। जिसमें जिला उपाध्यक्ष हरीलाल राम, जिला मंत्री दीनदयाल कुशवाहा, लेखाकार अवधेश मौर्य, प्रचार मंत्री वीरेंद्र सिंह, प्रवक्ता हेमंत शुक्ल शामिल है। में कृपानारायण सिंह, श्यामदेव यादव, अमरनाथ प्रसाद, बालेंदु मिश्र, वशिष्ठ नारायण राय, दीनदयाल, लक्ष्मण, रामाजी यादव, उमेश चंद्र राय, सुनील सिंह आदि मौजूद रहे। को संबोधित करते जिलाध्यक्ष विनोद सिंह ’ जागरण

basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

सरकारी विद्यालय में दी जा रही थी मजहबी शिक्षा, दो शिक्षक निलंबित
sarkari vidyalay me di ja rahi thi Mazahabi shiksha, do shikshak nilambit

सिद्धार्थनगर : अभी देवरिया, गोरखपुर व पड़ोसी जनपद महराजगंज आदि जिलों में सरकारी स्कूल को इस्लामिया स्कूल में तब्दील किए जाने का मामला चल ही रहा था कि सिद्धार्थनगर जिले के एक विद्यालय में लंबे समय से मजहबी शिक्षा दिए जाने का प्रकरण सामने आया है। बुधवार को बेसिक शिक्षाधिकारी की जांच में इसका खुलासा हुआ। विकास खंड खेसरहा के प्राथमिक विद्यालय देउरी में बच्चों के पास से उर्दू की पुस्तकें मिलीं। पता चला कि वह मजहबी पुस्तकें हैं। इसे लेकर विद्यालय के दो शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही निदेशक बेसिक शिक्षा को पत्र भेजकर मार्गदर्शन मांगा गया है। निलंबित शिक्षकों में प्रधानाध्यापक मतीउल्लाह व सहायक अध्यापक मो.अकमल शामिल हैं।


जागरण द्वारा मामला बीएसए के संज्ञान में लाए जाने पर बुधवार सुबह नौ बजे बेसिक शिक्षा अधिकारी राम सिंह, खंड शिक्षा अधिकारियों की टीम के साथ खेसरहा विकास क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय देउरी पहुंचे। टीम ने वहां बच्चों के हाथ में बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा मान्य पुस्तकों से इतर उर्दू की पुस्तकें देखीं। पूछने पर बच्चों ने बताया कि उन्हें इन्ही पुस्तकों से तालीम दी जाती है। बीएसए ने वहां तैनात प्रधानाध्यापक मतीउल्लाह व सहायक अध्यापक मो. अकमल से इस बारे में जानकारी चाही कि आखिर किसके आदेश पर बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा अनुमन्य पुस्तकों से शिक्षण कार्य न करके अन्य पुस्तकों का उपयोग किया जा रहा है, तो इस पर वे कोई उत्तर न दे सके। इससे नाराज बीएसए ने विभागीय निर्देशों के उलंघन को गंभीरता से लेते हुए दोनों शिक्षकों को निलंबित कर दिया। बीएसए की इस कार्रवाई के बाद समूचे जनपद के विद्यालयों में हड़कंप मच गया। टीम में बीईओ सीबी पांडेय, अभिमन्यु व विजय आनंद शामिल रहे। 1बीएसए ने बताया कि बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा जो पुस्तकें अनुमन्य की गई हैं केवल वही पुस्तकें परिषदीय विद्यालयों में प्रयोग की जा सकती हैं। पुस्तकों के नाम सभी विद्यालयों की दीवालों पर प्रदर्शित किए जाने का भी निर्देश है। ऐसे में बच्चों को दूसरी संस्थाओं की उर्दू या अन्य पुस्तकें पढ़ाया जाना गंभीर प्रकरण है। पूरे जनपद के विद्यालयों में खंड शिक्षा अधिकारियों से जांच करने का निर्देश दिया गया है। यदि अन्य किसी विद्यालय में ऐसी स्थिति पाई जाएगी तो दोषी शिक्षकों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।
sarkari vidyalay me di ja rahi thi Mazahabi shiksha, do shikshak nilambit

निरीक्षण में खुली पोल तो बीएसए ने की कार्रवाई


basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow
खेसरहा विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय देउरी का मामला


अच्छे शिक्षकों को अब बेहतर काम का मिलेगा इनाम
achchhe shikshakon ko ab behatar kam ka milega inaam

श्रवस्ती, शैक्षिक स्तर के मामले में सबसे पिछड़े जिलों में शुमार श्रवस्ती की बेसिक शिक्षा में सुधार के लिए नए सिरे से मानक तय किए हैं। सामान्य तौर पर छोटी-छोटी बातों पर शिक्षकों का वेतन काटने और उन्हें निलंबित करने की परंपरा पर अब रोक लगेगी। सीमित संसाधनों के सहारे भी शिक्षा की मजबूत नींव तैयार करने में बढ़-चढ़कर योगदान दे रहे शिक्षकों को उनके काम का ईनाम मिलेगा तो लापरवाह शिक्षकों को भी सुधरने का मौका दिया जाएगा। ऐसे शिक्षकों को चिह्न्ति कर उनकी काउंसिलिंग भी की जाएगी।


नीति आयोग की ओर से चिह्न्ति अति पिछड़े जिले में शामिल श्रवस्ती की साक्षरता दर महज 49.13 प्रतिशत है। इसमें पुरुष साक्षरता 59.55 प्रतिशत तथा महिला साक्षरता दर मात्र 37.07 प्रतिशत ही है। यहां की 400 ग्राम पंचायतों में बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देने के लिए 888 प्राथमिक तथा 391 उच्च प्राथमिक विद्यालय हैं। स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी है। प्राथमिक विद्यालयों में प्रधान शिक्षकों के स्वीकृत 888 पदों के सापेक्ष 654 रिक्त हैं। इसी प्रकार सहायक शिक्षकों के 3029 पद सृजित हैं। इनमें से सिर्फ 1014 की ही तैनाती है। उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 902 सहायक शिक्षकों के सापेक्ष 552 पद रिक्त चल रहे हैं। उपलब्ध शिक्षकोंे में से भी कई ऐसे हैं जो कभी-कभार ही स्कूल जाते हैं। कुछ शिक्षक ऐसे हैं जो स्कूल तो जाते हैं, लेकिन उनके आने-जाने का समय तय नहीं है। इस सबके बीच प्राथमिक शिक्षा की मजबूती के लिए ईमानदारी से प्रयास में जुटे शिक्षकों की भी इस जिले में कमी नहीं है। कई शिक्षक ऐसे हैं जो अपने निजी संसाधनों से परिषदीय विद्यालयों में कान्वेंट की तर्ज पर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दे रहे हैं। परंपरागत तरीके में स्कूलों से गायब रहने वाले शिक्षक यदि पकड़ में आते थे तो उन पर वेतन काटने अथवा निलंबन की कार्रवाई की जाती थी। बेहतर प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों को प्रोत्साहित करने की कोई पहल नहीं की गई। इस स्थिति में बदलाव के लिए नए रास्ते निकाले गए हैं। अब कार्रवाई से पहले स्कूल न जाने वाले शिक्षकों की समस्या जानी जाएगी। सुधार का मौका दिया जाएगा।इसके बाद भी सुधार नहीं हुआ तो कठोर कार्रवाई होगी।

achchhe shikshakon ko ab behatar kam ka milega inaam
सीमित संसाधनों से शिक्षा की मजबूत आधार शिला खड़ी करने की कवायद


basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

बीएसए ने तय किए मानक, गायब रहने वाले शिक्षकों की होगी काउंसिलिंगयह है बीएसए का प्लान

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ओंकार राना ने बताया कि सकारात्मक सोच के साथ मजबूती से शिक्षण कार्य में लगें शिक्षकों का मनोबल बढ़ाने के लिए उन्हें विभाग की ओर से प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। स्वयं अथवा खंड शिक्षाधिकारी के माध्यम से स्कूलों की अभियान चलाकर जांच की जाएगी।

इस्लामिया विद्यालयों को तलाशेगा विभाग
islamiya vidyalayon ko talashega vibhaag

गोरखपुर-बस्ती मंडल के सातों जिलों के बीएसए को दिया गया निर्देश, विद्यालय संचालन के जिम्मेदारों पर होगी कार्रवाई


गोरखपुर : विभिन्न जनपदों में कुछ परिषदीय विद्यालयों के इस्लामिया विद्यालय के रूप में संचालित होने का मामला प्रकाश में आने के बाद शिक्षा विभाग भी गंभीर हो गया है। सहायक शिक्षा निदेशक गोरखपुर-बस्ती मंडल ने दोनों मंडलों के सातों जिलों के बीएसए को पत्र लिखकर ऐसे विद्यालयों को तलाशने व उनका संचलन नियम के अनुसार कराने का निर्देश दिया है। इनके संचलन के लिए जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।


देवरिया, महराजगंज व गोरखपुर जनपद में परिषदीय विद्यालयों के इस्लामिया विद्यालय के रूप में संचालित होने का मामला प्रकाश में आया था। जागरण ने इस मामले को प्रमुखता से उठाया और ऐसे सभी विद्यालयों की व्यवस्था सामान्य विद्यालयों की तरह की जा चुकी है। इनके नाम के आगे से इस्लामिया शब्द भी मिटा दिया गया है। जिलाधिकारी के स्तर से भी इस मामले की जांच कराई जा रही है।

islamiya vidyalayon ko talashega vibhaag

एलआइयू ने जुटाई जानकारी: एलआइयू के अधिकारियों ने बुधवार को जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय पहुंचकर इस्लामिया विद्यालयों से जुड़ी जानकारी जुटाई। इंटेलीजेंस के अधिकारी बीएसए भूपेंद्र नारायण सिंह से मिले। इन क्षेत्रों के खंड शिक्षा अधिकारियों व विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों का नंबर भी प्राप्त किया। रिपोर्ट शासन को भी भेजी जा रही है।


basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

चल रहा नाम मिटाने का सिलसिला : जनपद में चार विद्यालयों के इस्लामिया के रूप में संचालित किए जाने का मामला प्रकाश में आया था। हालांकि पहले ही साप्ताहिक अवकाश शुक्रवार से बदलकर रविवार कर दिया गया था लेकिन उनके नाम के आगे इस्लामिया शब्द जुड़ा था। कैंपियरगंज क्षेत्र के दो विद्यालयों के बारे में समाचार प्रकाशित होने के बाद इस्लामिया शब्द मिटाया गया। बड़हलगंज क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय बेईली से भी इस्लामिया नाम स्वत: हटा दिया गया। कुछ वर्ष पूर्व तक उरुवा क्षेत्र में भी एक विद्यालय था, उसकी व्यवस्था भी बदली जा चुकी है।

इस्लामिया विद्यालयों का मामला संज्ञान में आने के बाद दोनों मंडलों के सातों जिलों के बीएसए को पत्र लिखकर ऐसे विद्यालयों को तलाशने और उन्हें बंद कराने का निर्देश दिया गया है। नियमानुसार कोई विद्यालय इस्लामिया या किसी और नाम से संचालित नहीं हो सकता। इसके संचलन को लेकर जो दोषी होगा, उसपर कार्रवाई भी होगी।1जेएन सिंह, सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक गोरखपुर-बस्ती मंडलदो शिक्षक निलंबित

सिद्धार्थनगर के विकास खंड खेसरहा के प्राथमिक विद्यालय देउरी में बच्चों के पास से उर्दू की पुस्तकें मिलीं। पता चला कि वह मजहबी पुस्तकें हैं। इसे लेकर विद्यालय के दो शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही निदेशक बेसिक शिक्षा को पत्र भेजकर मार्गदर्शन मांगा गया है। निलंबित शिक्षकों में प्रधानाध्यापक मतीउल्लाह व सहायक अध्यापक मो.अकमल शामिल हैं।1


सरकारी स्कूल में तबीयत बिगड़ी तो तुरंत होगा इलाज
sarkari school me tabiyat bogadi to turant hoga ilaaz

जागरण संवाददाता, गोरखपुर : सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों की हर का ख्याल सरकार रख रही है। बच्चों की स्वास्थ्य की चिंता करते हुए सभी परिषदीय प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों व कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में प्राथमिक स्वास्थ्य किट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। बच्चों को चोट लगने या तबीयत खराब होने पर उनका तुरंत इलाज हो सकेगा।


परिषदीय विद्यालयों में अभी चिकित्सा को लेकर कोई विशेष व्यवस्था नहीं होती। इस कमी को देखते हुए प्राथमिक चिकित्सा किट रखने का निर्देश दिया गया है। किट में उपलब्ध आवश्यक दवाओं की समय-समय पर जांच की जाएगी, जिससे एक्सपायरी दवाओं को बदला जा सके। प्राथमिक चिकित्सा किट के ऊपर एक सूची भी चस्पा की जाएगी, जिसपर दवा का नाम, किस बीमारी में प्रयोग करना है तथा दवा की एक्सपायरी तिथि क्या है। किसी भी बीमार छात्र-छात्र को दवा देने से पहले स्थानीय योग्य चिकित्सक की राय ली जाएगी। छात्रओं के लिए सैनेटरी पैड नियमित रूप से उपलब्ध कराया जाएगा और तिथिवार रजिस्टर में अंकित भी किया जाएगा। सैनेटरी पैड के सुरक्षित निस्तारण के लिए विद्यालयों में इंसीनरेटर की व्यवस्था की जाएगी। मुख्य चिकित्साधिकारी से संपर्क कर प्रत्येक महीने विद्यालयों में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन कर छात्र-छात्रओं का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाएगा। प्रत्येक छात्र-छात्र का स्वास्थ्य कार्ड भी बनाया जाएगा, जिसमें उसके वजन, लंबाई, ब्लड ग्रुप के बारे में जानकारी होगी।

sarkari school me tabiyat bogadi to turant hoga ilaaz

सभी प्राथमिक, उच्च प्राथमिक एवं कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में उपलब्ध होंगे प्राथमिक चिकित्सा किट

हर महीने विद्यालयों में लगाए जाएंगे स्वास्थ्य शिविरप्राथमिक किट में उपलब्ध सामग्री

basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

रूई, चिपकाने वाली टेप, केप बैंडेज, मरहम पट्टी, त्रिकोणीय बैंडेज, स्पिलिंट, टूनिकेट, थर्मामीटर, कैंची, दस्ताने, सेवलॉन, डिटॉल साबुन, पेन रिलीवर, कलपॉल, क्रोसीन (बुखार, सिरदर्द), एसीलॉक टैबलेट (पेट दर्द एवं गैस), ऐनटोसिड टैबलेट (पेट दर्द एवं गैस), बरनॉल (जलने पर), ओआरएस पैकेट, आंखों पर लगाने वाली पैड, गर्म पानी की बोतल, ब्लेड व बर्फ की थैली।


वाह, परिषदीय विद्यालय हो तो ऐसा
waah, parishadiy vidyalay hoto aisa


गोरखपुर:- एक ऐसा परिषदीय विद्यालय जहां के बच्चे हर फन में पारंगत होने को आतुर हैं। यहां की कक्षाएं किसी हाई प्रोफाइल कांवेंट की कक्षाओं से रेस करती नजर आती हैं। कमरों की दीवारें भी ज्ञान बांटती दिखती हैं। सुबह की प्रार्थना बैंड की धुन पर होती है। स्टार पाने के लिए यहां के छात्रों में होड़ मची होती है। ऐसा ही है खोराबार क्षेत्र का पूर्व माध्यमिक विद्यालय मोतीराम अड्डा। अध्यापकों की मेहनत से यह विद्यालय अब कांवेंट विद्यालयों को पीछे छोड़ने की राह पर आगे बढ़ रहा है। मोतीराम अड्डा चौराहे से कुछ दूरी पर स्थित यह विद्यालय पिछले कुछ महीनों में तेजी से विकास कर रहा है। विद्यालय की शिक्षक आभा दुबे ने प्रधानाध्यापक के रूप में कार्यभार संभालने के बाद विद्यालय की स्थिति को बदलने की ठानी। उनके इस सकारात्मक प्रयास को ग्राम प्रधान ओमप्रकाश मौर्य का भरपूर सहयोग मिला और विद्यालय की दशा ही बदल गई। जर्जर कक्षों को मजबूत और आकर्षक बना दिया गया है। प्रधानाध्यापक ने विद्यालय से बच्चों के फर्जी नामों को छांटा और उसे उपस्थिति पंजिका से बाहर कर दिया। अपनी टीम के साथ आभा विद्यालय को आगे बढ़ाने में लगी हैं। आलम यह है कि सोमवार को बिजली विभाग के एक कर्मचारी विनोद मिश्र अपनी बेटी संजना मिश्र का प्रवेश विद्यालय में कराने पहुंचे। संजना ने कक्षा पांच तक की पढ़ाई एक कांवेंट विद्यालय से पूरी की है। बच्चों के बीच प्रतियोगिता की भावना विकसित करने के लिए उन्हें अच्छे काम व पढ़ाई में बेहतर करने पर स्टार मार्क किया जाता है। इस व्यवस्था का बच्चों में बहुत क्रेज है।पूर्व माध्यमिक विद्यालय मोतीराम अड़डा,खोराबार कक्षा में पढ़ाती गणित की शिक्षिका ’ जागरणमैं इसी विद्यालय से पढ़ा हूं। विद्यालय की दशा काफी खराब थी। यहां के अध्यापक अच्छा प्रयास करते हैं। मैंने भी विद्यालय को सुंदर बनाने की पूरी कोशिश की है। इसे और बेहतर बनाया जाएगा।

प्रार्थना सभा में नैतिक शिक्षा

प्रार्थना सभा में बच्चों को नैतिक शिक्षा दी जाती है। कक्षा के मॉनीटर छात्र-छात्रओं के बाल, नाखून, ड्रेस आदि की जांच करते हैं। हिन्दी व अंग्रेजी में स्वच्छता आदि की प्रतिज्ञा होती है। आदर्श वाक्य सुनाए जाते हैं। समाचारों से अवगत कराया जाता है। सोमवार व शनिवार को बैंड की धुन पर पीटी होती है।
चार महीने पहले प्रधानाध्यापक के रूप में कार्यभार संभाला। विद्यालय को बेहतर बनाने की कोशिश जारी है। स्टाफ का पूरा सहयोग मिलता है। इस विद्यालय को एक ब्रांड बनाने की इच्छा है।

waah, parishadiy vidyalay hoto aisa

पूर्व माध्यमिक विद्यालय मोतीराम अड्डा सुविधाओं के साथ पढ़ाई में भी अव्वल


व्यक्तित्व विकास के कार्यक्रमों की भी भरमार

इस विद्यालय में व्यक्तित्व विकास के कार्यक्रम बड़े पैमाने पर चलाए जाते हैं। नो बैग डे के दिन आर्ट-क्राफ्ट, संगीत आदि का प्रशिक्षण दिया जाता है। बच्चों के लिए विद्यालय के पास अपना साउंड सिस्टम भी है। बच्चों के बीच सामान्य ज्ञान, भाषण व वाद-विवाद की प्रतियोगिताएं भी कराई जाती हैं। सांस्कृतिक कार्यक्रमों को लेकर भी इस विद्यालय के बच्चे खासा उत्साहित रहते हैं।

basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow


विद्यालय में हैं ये सुविधाएं1आकर्षक कक्षाएं, सभी बच्चों के लिए डेस्क-बेंच, कक्षाओं में पंखे, खेलकूद के सामान, पीटी के लिए ड्रम, प्रार्थना के लिए म्यूजिक सिस्टम, पुस्तकालय, क्रॉफ्ट व संगीत कक्ष, नवाचार, टीएलएम कॉर्नर, हाथ धोने का स्थान आदि।

जागरूकता के मंत्र से भगा रहे बीमारी ये ‘बाल क्रांतिकारी’
jagrukata ke mantra se bhaga rahe bimari ye 'Bal Krantikari'

मच्छरजनित बीमारियों के खिलाफ जंग के नायक बनकर उभरे हैं बच्चे, घर-घर जाकर लोगों को कर रहे जागरूक, बताते हैं बीमारी के कारक


विपिन है इस सेना का नायक


बहराइच तराई और पूर्वाचल के जिलों में ह साल जेई, एईएस व अन्य बीमारियों की चपेट में आकर हजारों लोग अस्पताल पहुंचते हैं। कई बार अस्पताल पहुंचने के बाद भी जान बचाना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में बहराइच के सर्वाधिक पिछड़े विकास खंडों में से एक बलहा के चंदन खास गांव में ‘बाल क्रांतिकारी’ सेना ने बीमारियों के खिलाफ जागरूकता का बिगुल फूंक दिया है। बाल क्रांतिकारियों की यह सेना खड़ी की है पूर्व माध्यमिक विद्यालय चंदनपुर खास के शिक्षक हेमंत कुमार यादव ने। उन्होंने ऐसे बच्चों की टीम तैयार की है जो जानलेवा जापानी इंसेफ्लाइटिस/एक्यूट इंसेफ्लाइटिस (जेई/एईएस) के खिलाफ जंग के नायक बनकर उभरे हैं।110 बीमारी, 10 क्रांतिकारी1शिक्षक हेमंत कुमार यादव ने लोगों को खासतौर पर गंदगी के कारण होने वाली व मच्छरजनित बीमारियों से लड़ने के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए 10 बच्चों की बाल क्रांतिकारी सेना तैयार की है। यह विचार तहसील नानपारा में लगे एक टीकाकरण कैंप के बाद आया। यहां प्रशिक्षण लेने के बाद उन्होंने अपने विद्यालय के बच्चों को प्रेरित किया। अब कक्षा छह के विपिन जायसवाल जापानी इंसेफ्लाइटिस, रोशनी फाइलेरिया, सौरव डेंगू, अंजुम बानो स्वाइन फ्लू, सादिया मलेरिया, कक्षा आठ के फरमान टीबी, दुर्गा प्रसाद ओझा हैजा, कक्षा आठ की शिफा खसरा, कक्षा सात के नूरुल इस्लाम पीलिया व कक्षा छह की बिल्कीस बानो चिकनगुनिया के बारे में अपने गांव के लोगों को जागरूक कर रहे हैं।

बहराइच : बलहा ब्लॉक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय चंदनपुर खास के शिक्षक हेमंत कुमार यादव और बीमारियों के खिलाफ बिगुल बजा रहे बाल क्रांतिकारी कक्षा छह का छात्र विपिन कुमारमच्छरजनित बीमारियों के प्रति जागरूक करने के लिए विद्यालय में खड़ी बच्चों की टीम ’ जागरणबाल क्रांतिकारियों में विपिन कुमार का नाम खास है। विपिन ने अपने शिक्षक की बातों को न केवल समझा, बल्कि उसे एक नए स्तर पर ले गया। कक्षा छह के छात्र विपिन के पिता ओंकार पांच बीघा जमीन के छोटे से किसान हैं। विपिन स्कूल के बाद नियमित रूप से विशेष सत्र लेता है। स्कूल के अन्य साथियों के साथ कई रचनात्मक चार्ट भी बनाए हैं। जेई/एईएस पर एक निबंध भी लिखा है। स्कूल से आने के बाद वह गांव में घर-घर जाकर लोगों को इन रोगों की कहानी जुबानी बताता है। शिक्षक हेमंत कुमार कहते हैं कि विपिन जैसे बच्चों की जरूरत है, जो स्वयं प्रेरित है और इस बीमारी से लड़ने के लिए तैयार है।


basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

jagrukata ke mantra se bhaga rahe bimari ye 'Bal Krantikari'
गांव के 40 फीसद लोग हुए जागरूक1शिक्षक हेमंत बताते हैं कि बच्चों की टीम गांव के 40 फीसद लोगों को जागरूक कर चुकी हैं। इसी महीने शिक्षा सत्र शुरू होने के बाद यह अभियान शुरू किया गया है। जागरूकता मुहिम के दौरान वह खुद भी बच्चों के साथ रहते हैं।

आंबेडकर विद्यालयों में 72 अध्यापक मिले फर्जी
ambedakar vidyalayon me 72 adhyapak farzi mile

मऊ : प्रदेश सरकार ने फर्जी अध्यापकों की जांच कर कार्रवाई के लिए शासनादेश जारी दिया है। यहां फर्जी नियुक्ति के बाद करोड़ों का गबन साबित होने के बाद भी समाज कल्याण विभाग बचाव की मुद्रा में है। अनुदानित आंबेडकर विद्यालयों में बड़े पैमाने पर शासनादेश का उल्लंघन करते हुए फर्जी अध्यापकों की नियुक्ति की गई थी। जांच कमेटी की रिपोर्ट के मुताबिक जनपद में 72 अध्यापकों की नियुक्ति में बेसिक शिक्षा विभाग सहित शासन से भी अनुमोदन नहीं लिया गया पाया गया। इसकी पूरी रिपोर्ट बनाकर बेसिक शिक्षा अधिकारी ने प्रशासन द्वारा गठित कमेटी के सचिव जिला समाज कल्याण अधिकारी सहित जिलाधिकारी को सौंप दी है। जांच में पाया गया कि 49 अध्यापकों की नियुक्ति में बेसिक शिक्षा कार्यालय से कोई अनुमोदन नहीं लिया गया मिला। पूरे अभिलेखों के मिलाने में जब नियुक्ति कहीं से भी सही नहीं पाई गई तो बेसिक शिक्षा अधिकारी ने 49 अध्यापकों की रिपोर्ट प्रशासन की गठित कमेटी को भेज दी। बाकी बचे अध्यापकों की जांच के लिए अभिलेख खंगाले गए। इसमें कुल 72 अध्यापक ऐसे पाए गए जिनका बेसिक शिक्षा विभाग से अनुमोदन नहीं हुआ था। बीएसए ओपी त्रिपाठी ने बताया कि विभाग की त्रि-स्तरीय कमेटी द्वारा पत्रवली की जांच में सहायक अध्यापकों का अनुमोदन नहीं मिला है।

इससे यह मामला फर्जी प्रतीत होता है। इसकी रिपोर्ट जिला समाज कल्याण अधिकारी को सौंप दी गई है।

ambedakar vidyalayon me 72 adhyapak farzi mile

शिक्षामित्रों ने किया कार्य बहिष्कार
shikshamitron ne kiya bahishkar

फैजाबाद: समायोजन निरस्त होने के साल भर बार बुधवार को शिक्षामित्रों ने काला दिवस मनाया। भिन्न-भिन्न विद्यालयों में शिक्षामित्रों ने बांह में काली पट्टी बांध कर सरकार की नीतियों का विरोध किया। सभी ने कार्य बहिष्कार भी किया।

शिक्षामित्रों ने कहा कि समायोजन निरस्त होने से उनका वेतन 40 हजार से दस हजार कर दिया गया और करियर समाप्त हो गया पर सत्ताधारियों को इसकी चिंता नहीं है। बताया कि गत वर्ष 25 जुलाई को ही समायोजन निरस्त किया था। इस मौके पर शिक्षामित्र संघ के जिलाध्यक्ष धर्मपाल यादव की अध्यक्षता में बैठक हुई। जिसमें मृत शिक्षामित्रों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। काला दिवस मनाने वालों में जिला मंत्री अजरुन भारती, प्रदेश मंत्री बृजेश यादव, वरिष्ठ उपाध्यक्ष आदित्य तिवारी, कोषाध्यक्ष विजय पाल, शिवपूजन यादव, शिवराज यादव, बंशीलाल, अशोक पांडेय, महेश कुमार, चंद्रभान कनौजिया, रामसागर पांडेय, राजितराम, एकलाख अहमद, सतीश यादव, सरयू वर्मा ,राघवेंद अवस्थी, संजय यादव, राम गुलाम, राकेश यादव, बृजराज यादव रहे।

shikshamitra shiksha mitra app download m shiksha mitra app download shiksha mitra website shikshamitra news today shikshamitra today news m shiksha mitra up shikshamitra news in hindi shiksha mitra hindi news shikshamitra news in hindi

shikshamitron ne kiya bahishkar

भवन प्रभारी पर गिरी गाज,बच्चे होंगे शिफ्ट
bhawan prabhari par giri gaz, bachche honge sift

प्रधानाचार्य के नदारत रहने पर घूमते रहे बच्चे1कोरांव विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय जवाइन में प्रधानाचार्य, दो सहायक व दो शिक्षामित्र नियुक्त है। बुधवार को मौके पर दो सहायक अध्यापक उपस्थित रहे। वही एक शिक्षामित्र अनुपस्थित रही। कुछ ही देर बाद प्रधानाचार्य धर्मेद्र कुमार सिंह आ गए। जब उनसे छात्रों की उपस्थिति पूछी गई तो वे आगबबूला हो गए। वहीं पूर्व माध्यमिक विद्यालय जवाइन में 54 छात्र उपस्थित थे। जिनके पठन पाठन की जिम्मेदारी 3 शिक्षको पर निर्भर है।
दैनिक जागरण में खबर छपने के बाद जागे अफसर, 55 घंटे बाद पहुंचे मौके पर, किया जागरूक


संसू, कोरांव : सिरोखर गांव में प्राथमिक विद्यालय का भवन गिरने की घटना को संज्ञान में लेने में अफसरों को ढाई दिन लग गए। बुधवार की शाम को खंड शिक्षा अधिकारी एवं तहसील दार मौके पर पहुंचे। भवन गिरने का पूरा दोष भवन प्रभारी पर मढ़ दिया। उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए लिखा पढ़ी की। यहां पढ़ने वाले बच्चों को दो किमी दूर पूर्व माध्यमिक विद्यालय में शिफ्ट करने का निर्देश दिया।

bhawan prabhari par giri gaz, bachche honge sift
गौरतलब है कि सिरोखर गांव में सोमवार को दिन में 11 बजे तेज बारिश के दौरान प्राथमिक विद्यालय का भवन गिर गया था। उस दौरान शिक्षकों ने बुद्धमानी का परिचय देते हुए स्कूल को दो घंटे पहले ही बंद करके बच्चों को घर भेज दिया था। दैनिक जागरण में बुधवार को यह खबर प्रमुखता से छपने के बाद विभागीय अफसर जागे। हालांकि इसके पहले खंड शिक्षा अधिकारी को स्कूल के प्रधानाचार्य ने भवन के जर्जर हालात की जानकारी लिखापढ़ी में दी थी लेकिन तब उन्होंने इस पर गंभीरता नहीं दिखायी थी। आज शाम को खंड शिक्षा अधिकारी तहसीलदार के साथ मौके पर पहुंचे। तहसीलदार ने इस मामले में सख्त रवैया अपनाते हुए भवन प्रभारी के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की बात कही है। गौरतलब है कि यह विद्यालय 2005 में बन था। यह12 वर्ष में ही जमींदोज हो गया। विद्यालय भवन गिरने के पांच मिनट पहले शिक्षक विनोद कुमार, रितेश कुमार, पूजा सिंह, संतोष यादव यहां से निकले थे। आज दिन में ग्रामीणों ने अध्यापकों की मदद से बच्चों की क्लास के लिए एक मड़हा और बनवाया। ग्रामीणों ने मांग की कि जल्द भवन का निर्माण करवाया जाए।

basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

हमारा बेटा शिव प्रकाश कक्षा चार में पढ़ता है। उस दिन बारिश होने से छुट्टी हो गई थी। पानी के कारण हमारा बेटा बच गया।

अवधेश कुमारहमारे तीन बच्चे आयुश, शौम्या, अर्पिता की कहना है कि ईश्वर की असीम कृपा रही तभी हम लोग बारिश होने के कारण बच गए।

आयोग ने दी सफाई अंतिम समय में केंद्र बदलने से हुई चूक
ayog ne di safai antim samay me kendra badalne se hui chuk

इलाहाबाद : एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में दो प्रवेश पत्र जारी होने पर हंगामा मच गया, यूपी पीएससी से इस तरह की चूक की उम्मीद किसी को नहीं थी। यह प्रकरण सोशल मीडिया में उछलने पर यूपी पीएससी से पूछा गया। सचिव जगदीश ने बताया कि यह स्थिति अंतिम समय में परीक्षा केंद्र बदलने के कारण हुई है। लखनऊ, फतेहपुर, मथुरा, फैजाबाद जिले में एक-एक केंद्र बदला गया है, वहीं आगरा और उन्नाव जिले में तीन-तीन केंद्रों में बदलाव हुआ है। सत्यापन करके केंद्र तय होने के बाद अंतिम समय में जिला प्रशासन ने कुछ कमियों के कारण बदलाव किया है। सचिव यह नहीं बता सके कि पहले तय केंद्रों में अंतिम समय में क्या कमियां पाई गई? जिन अभ्यर्थियों को दो-दो प्रवेशपत्र निर्गत हुए हैं वह किस केंद्र पर परीक्षा दें? यह सवाल उठने पर कहा गया कि विस्तृत रिपोर्ट जिलों से मंगाई जा रही है हालांकि यूपी पीएससी ने बुधवार देर रात परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार की ओर से बदले परीक्षा केंद्रों की सूची जारी कर दी है।


ज्ञात हो कि एक केंद्र पर 200 से 250 परीक्षार्थियों को इम्तिहान देना है। ऐसे में करीब ढाई हजार से अधिक परीक्षार्थी केंद्रों के भंवर में फंस गए हैं। यूपी पीएससी ने 39 जिले और 1760 केंद्र बताए थे लेकिन, अब तक यह नहीं बताया है कि किस जिले में कितने केंद्र बने हैं।
ayog ne di safai antim samay me kendra badalne se hui chuk

uppsc admit card uppsc admit card 2018 lt grade teacher latest news in hindi lt grade teacher exam syllabus lt grade latest news today in hindi lt grade written exam date up lt grade teacher exam date up lt grade teacher exam date uppsc.up.nic.in lt grade up lt grade exam syllabus 2017 up lt grade merit list 2017


यूपी पीएससी में आज ऑफलाइन मिलेगा प्रवेश पत्र : यूपी पीएससी में हाईकोर्ट के निर्देश पर जिन 156 याचियों के आवेदन ऑफलाइन लिए गए थे, उन्हें 26 जुलाई से यूपी पीएससी के परीक्षा अनुभाग-छह से प्रवेश पत्र दिए जाएंगे।

एलटी ग्रेड परीक्षा 2018:- असमंजस में आयोग, अधर में लटके अभ्यर्थी
Lt Grade Pariksha 2018:- asmanjas me aayog, adhar me latke-vidyarthi

सामाजिक विज्ञान विषय में चुनने होंगे दो खंड


निरस्त याचिकाओं से संबंधित अभ्यर्थी परीक्षा से बाहर, प्रवेश पत्र हो चुके जारी, परीक्षा में शामिल होने से रोका


शासन ने साधा मौन

एलटी ग्रेड परीक्षा तैयारियों की तमाम विसंगतियां सामने आ चुकी हैं। हजारों अभ्यर्थी परेशान हैं। वह इस समय परीक्षा की तैयारी करें या फिर उसमें शामिल होने या न होने के बदल रहे आदेश देखें। इसकी तमाम बार शिकायत हुई फिर भी इस मामले में शासन ने मौन साध लिया है, यूपी पीएससी अपने तरीके से परीक्षा कराने में जुटा है।


इलाहाबाद : उप्र लोकसेवा आयोग यानी यूपी पीएससी एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा को लेकर असमंजस में है। साढ़े सात लाख से अधिक दावेदारों की अर्हता/पात्रता की जांच न करने के कारण उसे बार-बार आदेश जारी करना पड़ रहा है। हालत यह है कि यूपी पीएससी ने बड़ी संख्या में ऐसे अभ्यर्थियों के प्रवेशपत्र भी जारी कर दिए हैं, जिनकी याचिकाएं खारिज हो चुकी हैं। उनसे अब कहा जा रहा है कि वह इम्तिहान में शामिल न हों।


Lt Grade Pariksha 2018:- asmanjas me aayog, adhar me latke-vidyarthi
यूपी पीएससी पहली बार एलटी ग्रेड शिक्षकों की लिखित परीक्षा करा रहा है। 29 जुलाई की परीक्षा के लिए 21 जुलाई को देर शाम प्रवेश पत्र जारी हुए। उस दिन अफसरों ने कहा कि 67 याचिकाओं के अभ्यर्थियों को प्रवेश पत्र जारी नहीं होंगे, क्योंकि हाईकोर्ट उनकी याचिका खारिज कर दी है। 23 जुलाई को यूपी पीएससी की ओर से कहा गया कि हाईकोर्ट में 17 हजार से अधिक याचिकाएं दाखिल हैं, उनमें से कई खारिज हो चुकी हैं लेकिन, जिनकी याचिका पर अंतिम निर्णय नहीं हुआ है, उन्हें परीक्षा में शामिल होने का औपबंधिक रूप से मौका दिया जाएगा। उनके प्रवेश पत्र जारी हो रहे हैं। अब कहा जा रहा है कि कई याचिकाओं पर कोर्ट ने अभ्यर्थियों को परीक्षा में शामिल होने का मौका देने का अंतरिम आदेश दिया था। इस निर्देश के अनुपालन में यूपी पीएससी ने केवल याचियों को आवेदन की अनुमति दी गई है। इनसे औपबंधिक रूप से ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन लिए गए थे।

uppsc admit card uppsc admit card 2018 lt grade teacher latest news in hindi lt grade teacher exam syllabus lt grade latest news today in hindi lt grade written exam date up lt grade teacher exam date up lt grade teacher exam date uppsc.up.nic.in lt grade up lt grade exam syllabus 2017 up lt grade merit list 2017


यूपी पीएससी की परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार की ओर से दावा किया गया है कि पिछले दिनों हाईकोर्ट ने एलटी ग्रेड कंप्यूटर व आयु सीमा में छूट संबंधित याचिकाएं निरस्त कर दी हैं, हालांकि इनके प्रवेश पत्र जारी हो चुके हैं। ऐसे में निरस्त हुई याचिकाओं से संबंधित अभ्यर्थियों को सूचित किया जाता है कि प्रवेशपत्र मिलने के बाद भी वे परीक्षा में शामिल न हों। अगर ऐसे अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए तो हाईकोर्ट के निर्देश पर उन पर कोई विचार न करते हुए अभ्यर्थन निरस्त माना जाएगा।

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : एलटी ग्रेड यानी सहायक अध्यापक (प्रशिक्षित स्नातक पुरुष/महिला) परीक्षा में शामिल सामाजिक विज्ञान विषय के अभ्यर्थियों को चार खंड में निर्धारित चार विषयों में किन्हीं दो का चयन करते हुए प्रश्नों का उत्तर देना होगा। इसके सभी खंड में 60-60 प्रश्न रखे गए हैं। किसी गड़बड़ी से बचने के लिए अभ्यर्थियों को बेहद सावधानी से विकल्प का चयन करने के निर्देश दिए गए हैं।

यूपी पीएससी ने वेबसाइट पर जारी प्रवेशपत्र के साथ ही परीक्षा में अपनाए जाने वाले नियम व शर्तो का उल्लेख भी किया गया है। इसमें सामाजिक विज्ञान के अभ्यर्थियों के लिए खास निर्देश हैं। जिनमें कहा गया है कि इसमें चार खंडों में भूगोल, इतिहास, अर्थशास्त्र और नागरिक शास्त्र के प्रश्न रहेंगे। अभ्यर्थियों को इनमें दो खंडों का चयन कर उत्तर देना होगा। इस विषय की परीक्षा के लिए तैयार ओएमआर आंसर शीट के प्रथम भाग में एक से 30 तक सामान्य अध्ययन और दूसरे तथा तीसरे भाग में विकल्प एक और विकल्प दो अंकित किया गया है। इसके नीचे ही चारों विषयों का उल्लेख रहेगा। विषयों के सामने गोला बना रहेगा। अभ्यर्थियों से कहा गया है कि विकल्प एक या दो के रूप में जिस विषय का चयन करेंगे उसी विषय के सामने बने गोले को काला करना होगा। इसके बाद उस विषय से संबंधित प्रश्नों का उत्तर देना होगा।उत्तर पुस्तिका मिलते ही जांच लें

अभ्यर्थियों को परीक्षा शुरू होने के दौरान प्रश्न पुस्तिका प्राप्त करने पर यह देखना होगा कि उस पर क्रमांक पड़ा है या नहीं, अभ्यर्थी जिस विषय में पंजीकृत है उसी विषय की प्रश्न पुस्तिका प्राप्त हुई है या नहीं। ऐसा न होने पर या उत्तर पुस्तिका फटी होने या कोई अन्य गड़बड़ी दिखने पर उसे अंतरीक्षक से बदल लेने को कहा गया है।

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा को ले संशय

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती:- लोकसेवा आयोग से एक अभ्यर्थी को दो प्रवेशपत्र
Lt Grade shikshak bharti:- lokseva aayog se 1 vidyarthi ko 2 praveshpatra


राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : परीक्षा 2018 कराने की हड़बड़ी में उप्र लोकसेवा आयोग की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। यूपी पीएससी ने एक महिला अभ्यर्थी को दो प्रवेश पत्र जारी कर दिए। यूपी पीएससी के अफसर बचाव की मुद्रा में हैं, उनका कहना है कि अंतिम समय में परीक्षा केंद्र बदलने से यह स्थिति बनी है। प्रदेश के छह जिलों में दस परीक्षा केंद्र बदल दिए गए हैं, इसमें करीब ढाई हजार से अधिक परीक्षार्थी सीधे प्रभावित हो रहे हैं। परीक्षा केंद्र क्यों बदले गए? इस संबंध में यूपी पीएससी बताने की स्थिति में नहीं है। हालांकि बुधवार देर रात केंद्र बदलने की नोटिस जारी कर दी गई है।

uppsc admit card uppsc admit card 2018 lt grade teacher latest news in hindi lt grade teacher exam syllabus lt grade latest news today in hindi lt grade written exam date up lt grade teacher exam date up lt grade teacher exam date uppsc.up.nic.in lt grade up lt grade exam syllabus 2017 up lt grade merit list 2017

राजकीय कालेज की 2018 के 10768 पदों की लिखित पहली बार 29 जुलाई को होनी है। इसे यूपी पीएससी भी पहली बार करा रहा है। ‘दैनिक जागरण’ ने बुधवार को ही ‘7.63 लाख अभ्यर्थियों संग यूपी पीएससी का खिलवाड़’ खबर में तैयारियां उजागर किया है। अब एक ही अभ्यर्थी को दो प्रवेशपत्र जारी करने का प्रकरण सामने आया है। मोनिका बाजपेयी अनुक्रमांक 682745 को दो कालेजों श्री भारत इंटरमीडिएट कालेज नंदी ग्राम भरतकुंड, फैजाबाद और जय गणोश शिव सागर महिला महाविद्यालय देवकाली, फैजाबाद परीक्षा केंद्र का प्रवेशपत्र जारी हुआ है। मोनिका बाजपेई को मिला पहला प्रवेश पत्रमोनिका बाजपेई को मिला दूसरा प्रवेश पत्र

Lt Grade shikshak bharti:- lokseva aayog se 1 vidyarthi ko 2 praveshpatra




सरकार शिक्षामित्र व बीएड-टीईटी 2011 के लिए अवसर खोजेगी
sarkar shikshamitra v bed-tet 2011 ke liye avsar khojegi

उप मुख्यमंत्री की कमेटी शिक्षामित्रों पर करेगी मंथन

सीएम ने सभी पहलुओं पर विचार करने के लिए उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा की अध्यक्षता में कमेटी गठित की है। इस समिति में अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डा. प्रभात कुमार, अपर मुख्य सचिव वित्त व प्रमुख सचिव न्याय सदस्य होंगे। यही नहीं समिति चाहे तो किसी अन्य अधिकारी व व्यक्ति को भी विशेष आमंत्री के रूप में शामिल किया जा सकता है। बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में एक लाख 72 हजार शिक्षामित्र तैनात हैं। उनमें से चरणबद्ध तरीके से एक लाख 37 हजार शिक्षामित्रों को सहायक अध्यापक के रूप में समायोजित किया गया। उनका समायोजन पहले हाईकोर्ट और फिर शीर्ष कोर्ट से रद हो गया। इसके बाद से शिक्षामित्र नियमित अध्यापक के रूप में नियुक्ति की मांग को लेकर अड़े हैं। शिक्षामित्रों ने मुख्यमंत्री से मिलकर मांग उठाई कि देश के 13 राज्यों में शिक्षामित्रों व पैरा शिक्षकों को समान कार्य का समान वेतन के तहत नियमित किया गया है और वहां बेहतर भुगतान वर्ष भर मिल रहा है। माना जा रहा है कि अब गठित समिति इन प्रस्तावों व अन्य सुझावों पर चर्चा करके निर्णय लेगी।



राज्य ब्यूरो, लखनऊ : योगी सरकार शिक्षामित्रों व बीएड-टीईटी 2011 के करीब दो लाख प्रशिक्षित शिक्षकों को बड़ी सौगात देने की तैयारी में है। दोनों वर्गो की समस्याएं दूर करने व उन्हें नए सिरे से अवसर देने के लिए बुधवार देर रात सरकार ने दो अलग-अलग उच्च स्तरीय समितियों का गठन किया है। समितियां समस्याओं के निस्तारण के साथ ही नियुक्ति देने का मौका भी तलाशेंगी।

sarkar shikshamitra v bed-tet 2011 ke liye avsar khojegi

दरअसल, 25 जुलाई ही वह तारीख है, जब 2017 में प्रदेश के एक लाख 37 हजार शिक्षामित्रों का समायोजन शीर्ष कोर्ट ने रद कर दिया। शिक्षामित्रों ने इसके विरोध में लंबे समय तक उग्र आंदोलन चलाया और अब तक रह-रहकर प्रदर्शन होता रहा है। इनके साथ ही बीएड-टीईटी 2011 की नियुक्ति का शीर्ष कोर्ट ने अंतिम फैसला सुनाया। ठीक एक बरस बाद दोनों वर्गो की सरकार ने सुधि ली है।

shikshamitra shiksha mitra app download m shiksha mitra app download shiksha mitra website shikshamitra news today shikshamitra today news m shiksha mitra up shikshamitra news in hindi shiksha mitra hindi news shikshamitra news in hindi

प्रमुख सचिव न्याय अवशेष नियुक्ति खंगालेंगे

 मुख्यमंत्री ने बीएड-टीईटी 2011 के अभ्यर्थियों की मांगों को लेकर प्रमुख सचिव न्याय की अध्यक्षता में कमेटी गठित की है। इसमें अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा प्रभात कुमार व प्रमुख सचिव गृह को सदस्य बनाया गया है। इसमें भी अन्य अफसर व व्यक्ति को विशेष आमंत्री के रूप में समिति को रखने की छूट है। असल में, 2011 में परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 72825 शिक्षकों की भर्ती शुरू हुई। 2014 तक 66 हजार 655 अभ्यर्थियों को विभिन्न जिलों में नियुक्ति दी गई। इसी बीच शीर्ष कोर्ट ने सात दिसंबर 2015 को 1100 याचियों को नियुक्ति देने का आदेश किया। शासन से 862 अभ्यर्थियों की नियुक्ति करने का आदेश हुआ, उस समय 832 को नियुक्ति भी मिल गई। यह देखकर 24 फरवरी 2016 तक करीब 35 हजार अन्य बीएड अभ्यर्थी भी याची बन गए। शीर्ष कोर्ट ने 24 अगस्त 2016 व 17 नवंबर 2016 को इन्हें नियुक्त करने का आदेश दिया लेकिन, उसका अनुपालन नहीं हुआ। 25 जुलाई 2017 को शीर्ष कोर्ट ने अंतिम आदेश में कहा कि अब प्रदेश सरकार चाहे तो अलग से विज्ञापन निकालकर भर्ती के शेष पद भर सकती है। इससे अभ्यर्थियों में उम्मीद जगी लेकिन, 24 अप्रैल 2018 को शासन ने यह भर्ती प्रक्रिया बंद कर दी। इससे अभ्यर्थी लगातार नियुक्ति की मांग कर रहे हैं।


अल्पसंख्यक आयोग ने निदेशक बेसिक शिक्षा को किया तलब
alpsankhyak aayog ne nideshak basic shiksha ko kiya talab

लखनऊ : कई जिलों के प्राथमिक विद्यालयों में इस्लामिया नाम जोड़ने के मामले का उप्र अल्पसंख्यक आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग के चेयरमैन तनवीर हैदर उस्मानी ने ‘दैनिक जागरण’ की खबर का स्वत: संज्ञान लेते हुए निदेशक बेसिक शिक्षा परिषद को तलब किया है। उन्होंने इस मामले में विस्तृत रिपोर्ट देने के लिए कहा है।


देवरिया, गोरखपुर, बाराबंकी, सीतापुर, हरदोई, सुलतानपुर, फैजाबाद, श्रवस्ती सहित कई जिलों में प्राथमिक विद्यालयों ने अपने नाम के साथ इस्लामिया शब्द जोड़ लिया है। इन्होंने अपने साप्ताहिक अवकाश भी रविवार के बजाय शुक्रवार कर लिए हैं। सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में इस्लामिया नाम किसके आदेश से जोड़ा गया इसकी कोई जानकारी नहीं दे रहा है। यह विद्यालय अल्पसंख्यक आबादी वाले क्षेत्रों में स्थित हैं। ‘दैनिक जागरण’ ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इसी खबर का संज्ञान लेते हुए अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष तनवीर हैदर उस्मानी ने निदेशक बेसिक शिक्षा से इसका विस्तृत ब्योरा मांगा है। उन्होंने पूछा कि प्रदेश में ऐसे कितने प्रकरण चल रहे हैं। इस मामले में आरोपितों पर अब तक विभाग ने क्या कार्रवाई की। उन्होंने कहा कि मामले के सारे पहलुओं संग विस्तृत रिपोर्ट आयोग के समक्ष पेश की जाए।


alpsankhyak aayog ne nideshak basic shiksha ko kiya talab
उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष तनवीर हैदर उस्मानी ’जागरणसरकारी स्कूलों में मदरसे चलाना अवैध


basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

तनवीर हैदर उस्मानी ने कहा कि सरकारी स्कूलों में मदरसा चलाना पूरी तरह अवैध है। यह किसके आदेश से संचालित हो रहे हैं इसका पता किया जाना जरूरी है। मदरसों के लिए प्रदेश सरकार ने एक अलग बोर्ड बना रखा है। बेसिक स्कूलों में इन्हें संचालित नहीं किया जा सकता है।प्राथमिक विद्यालयों में इस्लामिया नाम जोड़ने के मामले में सख्ती

गुणवत्ता आंकने के लिए हुई विशेष परीक्षा
gudvatta aankane ke liye hui vishesh pariksha

सरकारी प्राइमरी व पूर्व माध्यमिक स्कूलों में हुई विशेष परीक्षा, अब हर दो महीने पर परीक्षा होगी, परीक्षा में भी अनुपस्थित रहे कई छात्र


जागरण टीम, लखनऊ : राजधानी में सरकारी प्राइमरी स्कूलों व पूर्व माध्यमिक स्कूलों में गुणवत्ता आंकने के लिए हंिदूी, अंग्रेजी व गणित की विशेष परीक्षा आयोजित की गई। परीक्षा के लिए आसपास के स्कूलों के शिक्षकों की ड्यूटी एक-दूसरे के स्कूल में लगाई गई ताकि सख्ती से परीक्षा हो। अब हर दो महीने में यह परीक्षा होगी और इसके माध्यम से न सिर्फ विद्यार्थियों का मूल्यांकन होगा बल्कि शिक्षकों की पढ़ाई का भी आंकलन किया जाएगा। स्कूलों की पहली बार ग्रेडिंग भी होगी। बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. अमरकांत सिंह ने बताया कि कक्षा तीन, पांच व आठ के विद्यार्थियों के लिए यह परीक्षा हुई।

gudvatta aankane ke liye hui vishesh pariksha
basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

प्राइमरी स्कूल पंचम खेड़ा में कक्षा तीन में 32 में से 14 विद्यार्थी और कक्षा पांच में 21 में से 19 विद्यार्थी मौजूद रहे। वहीं प्राइमरी स्कूल हैवतपुर मवईया में कक्षा तीन में 22 में से 20 विद्यार्थी और कक्षा पांच में 11 में से नौ विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए। यहां विद्यार्थियों के बैठने के लिए चटाई भी नहीं थी। उधर काकोरी क्षेत्र के प्राइमरी स्कूल गुरुदीन खेड़ा में 31 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। पहले से शिक्षकों ने विद्यार्थियों को ढंग से परीक्षा की जानकारी नहीं दी थी। इसलिए विद्यार्थी कम आए। उधर गोसाईंगंज के प्राइमरी स्कूल सेंगटा में कक्षा तीन के विद्यार्थी हंिदूी के प्रश्नपत्र में एक सवाल में उलझ गए। सरोजनीनगर के प्राइमरी स्कूल स्कूटर इंडिया में 214 में से 196 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए।गोसाईगंज के एक स्कूल में परीक्षा देते बच्चे

महिला शिक्षामित्रों संग 513 ने कराया मुंडन
mahila shikshamitron sang 513 ne karaya mundan

ईको गार्डन में प्रदर्शन के 67वें दिन मांगें पूरी न होने पर विरोध स्वरूप मनाया श्रद्ध


लखनऊ : ईको गार्डन में पिछले करीब 67 दिनों से अपनी पांच सूत्री मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे शिक्षामित्रों ने बुधवार को विरोध स्वरूप श्रद्ध मनाया। राज्य सरकार पर उपेक्षा का आरोप लगाते हुए शिक्षामित्र उमा देवी, सरोज, संगीता व सुमन ने मुंडन कराकर श्रद्ध आरंभ किया। इसके बाद एक-एक करके 63 महिला और 450 पुरुष शिक्षामित्रों ने अपना मुंडन कराया और तर्पण भी दिया। इस तरह शाम तक कुल 513 शिक्षामित्रों ने अपने सिर मुड़वाए। शिक्षामित्र समान कार्य समान वेतन और समायोजन की मांग कर रहे हैं।

आम शिक्षक शिक्षामित्र एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के आह्वान पर प्रदेशभर से सैकड़ों की संख्या में शिक्षामित्र बीती 18 मई से लगातार ईको गार्डेन स्थित धरना स्थल पर प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही। अध्यक्ष उमादेवी ने कहा कि उत्तराखंड, बिहार, राजस्थान जैसे कई राज्यों में शिक्षामित्रों को समान कार्य समान वेतन दिया जा रहा है। उपाध्यक्ष संतोष दुबे ने बताया कि शिक्षामित्रों की पहली मांग है कि कुल 1.74 लाख शिक्षामित्रों में से 1.24 लाख शिक्षामित्रों को पैरा टीचर के तौर पर बीटीसी का प्रशिक्षण करवाया गया था, इन्हें प्राइमरी स्कूलों में टीचर बनाया जाए। यह सब 2009 से पहले के भर्ती शिक्षामित्र हैं। दूसरी मांग यह है कि आरटीई एक्ट के कारण जो शिक्षामित्र समायोजित नहीं हो सकते उन्हें चार वर्ष में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) पास करने की छूट दी जाए, क्योंकि उत्तराखंड में यह व्यवस्था की गई है।

mahila shikshamitron sang 513 ne karaya mundan



shikshamitra shiksha mitra app download m shiksha mitra app download shiksha mitra website shikshamitra news today shikshamitra today news m shiksha mitra up shikshamitra news in hindi shiksha mitra hindi news shikshamitra news in hindi

तीसरी मांग यह कि जो शिक्षामित्र टीईटी पास हैं उनको बिना लिखित परीक्षा के उम्र और अनुभव का भारांक देकर नियमित किया जाए। चौथी मांग यह कि असमायोजित शिक्षामित्रों को बिहार की तर्ज पर समान कार्य समान वेतन दिया जाए। यानी शिक्षामित्रों को 38878 रुपये वेतन दिया जाए न कि केवल 10000 रुपये। पांचवी मांग यह कि अभी तक मृतक 708 शिक्षामित्रों के परिवार को उचित मुआवजा व परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाए। मुंडन कराने के लिए कोई हेयर ड्रेसर नहीं बुलाया गया। शिक्षामित्रों में ही अमरेंद्र, रवीन्द्र और प्रदीप आदि ने एक-दूसरे का मुंडन किया।

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

(cc) Some Rights Reserved. Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget