सहायिकाओं को भेजा कार्यकर्ताओं का मानदेय

anganwadi news, sahaikaon ko bheja karyakartaon ka mandey
सहायिकाओं को भेजा कार्यकर्ताओं का मानदेय

बाल पुष्टाहार विभाग का मामला बाराबंकी सहित 75 जिलों से शुरू हुई रिकवरी, 2015-16 में भेजा गया था दस-दस माह का मानदेय

करोंड़ों फंसे, मानदेय वापस नहीं कर रहीं आंगनबाड़ी सहायिकाएं

संवादसूत्र, बाराबंकी : पूर्व सरकार में बाराबंकी सहित 75 जिलों में आंगनबाड़ी सहायिकाओं को कार्यकर्ताओं का मानदेय भेज दिया गया था। ढाई वर्षों से दबे पड़े मानदेय का मामला सामने आ गया है। बाल पुष्टाहार विभाग की ओर से रिकवरी कराने का आदेश जारी हुआ है। एक सहायिका को दस माह का मानदेय भेजा गया था।

बाल विकास पुष्टाहार विभाग से संचालित आंगनबाड़ी केंद्र में कार्यकर्ताओं को 32 सौ रुपये, मिनी कार्यकर्ताओं को 2250 रुपये और सहायिका को 1600 रुपये मानदेय मिलता था। वर्ष 2015-16 में निदेशालय लखनऊ से बाराबंकी में संचालित तीन हजार 52 आंगनबाड़ी केंद्रों में से करीब 950 सहायिकओं को आंगनबाड़ी कार्यकर्ता का मानदेय 3200 रुपये भेज दिया गया था। यह मानदेय एक माह का नहीं बल्कि दस-दस माह का भेजा गया था। इस तरह से जिले में ही 15 लाख 20 हजार रुपये अधिक मानदेय भेजा गया था। जिसमें से हरख और मसौली की आंगनबाड़ी सहायिकाओं से रिकवरी करा ली गई है। जबकि सूरतगंज में 190 और हैदरगढ़ में 24, सिरौलीगौसपुर में 24 सहायिकाओं से रिकवरी के लिए पत्र भेजा गया।

anganwadi news, sahaikaon ko bheja karyakartaon ka mandey

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

(cc) Some Rights Reserved. Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget