दर्दनाक हादसा:- लालगंज में‘शिक्षा का द्वार’ बन गया काल का द्वार

Basic Shiksha Latest News Shiksha Ka Dwar Ban Gaya Kaal Ka Dwar

लालगंज में‘शिक्षा का द्वार’ बन गया काल का द्वार


बीइओ से स्पष्टीकरण, प्रधान पर कार्रवाई को बीएसए ने लिखा पत्र


संग्रामगढ़ ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय के गेट से जा सकती थी और बच्चों की जान, निर्माण की घटिया सामग्री को लेकर रही चर्चा


संसू, लालगंज1लालगंज कोतवाली अंतर्गत रामपुर संग्रामगढ़ ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय पूरे अनिरुद्ध में स्कूल गेट के निर्माण में घटिया सामग्री का प्रयोग किए जाने का आरोप लग रहा है। चर्चा है कि जिस गेट के गिरने से छात्र की मौत हुई उसका निर्माण बेहद लापरवाही तरीके से किया गया था। घटना के पूर्व वहां कई बच्चे खेल रहे थे, जिनमें से अधिकांश अपनी कक्षाओं में जा चुके थे, नहीं तो और बच्चों की जान जा सकती थी।

लोगों का कहना था कि लोहे के गेट के निर्माण में सीमेंट, सरिया, बालू आदि सामग्रियों के अनुपात पर ध्यान नहीं दिया गया। पिलर निर्माण में सरिया का प्रयोग नहीं दिखा। वहां मौजूद कुछ ठेकेदारों में चर्चा रही कि इसके निर्माण में करीब सोलह-एक के मसाले का प्रयोग हुआ है। लोगों का कहना था कि यदि सरिया, सीमेंट व मोरंग का प्रयोग मानक के अनुरुप होता तो शायद यह हादसा न होता और शिक्षा का द्वार काल का द्वार न बनता। स्कूल में कुल छात्रों की संख्या 52 बताई गई। इसमें से बुधवार को 25 बच्चे ही उपस्थित रहे। लंच के दौरान खाना खाने के बाद स्कूल गेट के पास राज, अमन, आर्यन के साथ ही कुछ और भी बच्चे खेल रहे थे, लेकिन घटना से थोड़ी देर पहले कुछ बच्चे अपनी कक्षा में चले गये थे, कुछ गेट पर खेल रहे थे कि हादसा हो गया। यदि पहले गेट गिरा होता तो और बच्चों की जान जा सकती थी।

गेट निर्माण को लेकर खड़े हुए सवाल: प्राथमिक स्कूल पूरे अनिरुद्ध में गेट गिरने से छात्र की मौत की घटना को लेकर जिम्मेदार पल्ला झाड़ते दिखे। बीडीओ ओपी मिश्र से लेकर एडीओ पंचायत संतोष शुक्ल, जेई आरईएस लालचंद सभी का यही कहना रहा कि प्रधान विद्या देवी पत्नी लालजी सरोज ने स्कूल गेट निर्माण को लेकर किसी प्रकार की कोई स्वीकृत नहीं ली थी। वहीं प्रधानपति ने कुछ भी कहने से इन्कार कर दिया। वित्तीय स्वीकृति के बिना किस आधार पर निर्माण हुआ यह एक बड़ा सवाल खड़ा कर रहा है।

इकलौते बेटे की मौत से सदमे में परिजन : लालगंज कोतवाली के पूरे अनिरुद्ध गो¨वदपुर स्कूल गेट गिरने से छात्र की मौत पर परिजन सदमे में हैं। मृतक राज दो बहनों रागिनी व शालिनी के बीच अकेला भाई था। मृतक के पिता बब्बू सरोज ने अपने इकलौते पुत्र राज का तीन-चार दिन पूर्व कक्षा दो में प्रवेश कराया था। बेटी रागिनी (09) व बेटे राज को लेकर वह सुबह स्कूल छोड़कर लौट आए थे। लंच होने के बाद राज ने अपनी बहन के साथ विद्यालय का खाना खाया। इसके बाद कुछ बच्चों के साथ खेलने में जुट गया। बच्चे स्कूल के गेट पर झूलने लगे। इसी बीच गेट पिलर सहित धराशाई हो गया।


Basic Shiksha Latest News Shiksha Ka Dwar Ban Gaya Kaal Ka Dwar

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

(cc) Some Rights Reserved. Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget