प्राथमिक विद्यालय में देर से पहुंचे शिक्षक, आक्रोशित ग्रामीणों ने जड़ा ताला

देर से पहुंचे शिक्षक, ग्रामीणों ने जड़ा ताला


जागरण संवाददाता, उरुवा धुरियापार, गोरखपुर: सोमवार को बेलघाट क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय मधुपट्टी के बच्चों को धूप में खड़ा देख ग्रामीण आक्रोशित हो गए और विद्यालय गेट पर ताला जड़ दिया। उस समय विद्यालय पर सिर्फ रसोईया मौजूद थी। देर से आए शिक्षक ने बताया कि बाइक पंचर हो गई थी, जबकि प्रधानाध्यापक अवकाश पर बताए गए। शिक्षकों की मनमानी व जिम्मेदारों की शिथिलता से सर्वशिक्षा अभियान पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है।

ग्रामीणों के अनुसार प्रावि मधुपट्टी को अक्सर विलंब से खोला जाता है। शिक्षक समय से नहीं आते है, जिससे बच्चों की पढ़ाई बाधित होती है। बहुत दिनों से ग्रामीण इस समस्या को नजरअंदाज कर रहे थे, लेकिन सोमवार को पानी सिर के ऊपर निकल गया। बच्चे कड़ी धूप में खड़े थे और विद्यालय का ताला नहीं खुला था। लोग अध्यापकों का इंतजार करते रहे। करीब सवा नौ बजे एक अध्यापक पहुंचे तो उन्होंने बाइक पंचर होने की बात कही। ग्रामीणों ने बताया कि यह रोज ही देरी से विद्यालय पहुंचते हैं। जब प्रधानाध्यापक रामदास प्रसाद से बात की गई तो उनका कहना था कि मैं छुट्टी पर हूं। कल आकर देखता हूं।

विद्यालय पर अंकित नहीं है नाम : यह स्कूल बिना नाम के ही चलता है, जब अध्यापक से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि पेंटिंग का कार्य चल रहा है जल्द ही नाम लिखा जाएगा, जबकि ग्रामीणों कहना है कि यह सरासर झूठ है। विद्यालय की पेंटिंग कुछ हफ्तों पहले ही हो चुकी है लेकिन नाम ही नहीं लिखा गया है।

ड्रेस वितरित नहीं हुआ: सभी बीईओ को निर्देशित किया गया था कि 15 जुलाई तक बच्चों को ड्रेस, बैग, कापी, किताब, जूता व मोजा आदि का वितरण करा दिया जाए, जोकि इस विद्यालय में नहीं हुआ है। पूछने पर पता चला की अभी तक कुछ ही ड्रेस बैग मिले हैं किंतु जिन बच्चों को ड्रेस मिला चुका है वह ड्रेस में नहीं आते हैं।

पढ़ाई सही तरीके से नहीं होती: ग्रामीण संतोष गुप्ता, दीपचंद गौड़, विमलेश कन्नौजिया, पुष्पा, दुलारी, विजय यादव, गौतम गौड़, चंदन गौड़, मदन कनौजिया, सुधिराम यादव, विनोद गौड़, लक्ष्मण कनौजिया, सोहन, मकरधुज, अमरेश, कोमल व ईश्वर चंद आदि ने कहा कि अधिकारियों की मिलीभगत से ही इस विद्यालय में पढ़ाई सही तरीकेसे नहीं की जाती है। बेहतर शिक्षा की बात ही छोड़िए बच्चों को सही बोलने केलिए भी नहीं सिखाया जाता है। अध्यापक भी मनमाने तरीके से विद्यालय आते और मौज करते हैं।

बीएसए को लिखा जाएगा पत्र: जब इस बाबत बीईओ बेलघाट रामश्रेय से बात की गई तो उनका कहना था कि इस तरह की लापरवाही क्षम्य नहीं है। नौनिहालों के भविष्य केसाथ खिलवाड़ को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जल्द ही इस मामले की जांच करवाई जाएगी। लापरवाह अध्यापकों के खिलाफ कार्यवाई करने के लिए बीएसए को पत्र लिखा जाएगा।

प्राथमिक विद्यालय में देर से पहुंचे शिक्षक, आक्रोशित ग्रामीणों ने जड़ा ताला


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

(cc) Some Rights Reserved. Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget