इस मॉडल स्कूल में रसोईघर नहीं, शौचालय का भी अभाव, ऐसे में कैसे पढ़ें


इस मॉडल स्कूल में रसोईघर नहीं, शौचालय का भी अभाव



संसू, प्रतापगढ़ नगर क्षेत्र के मॉडल प्राइमरी स्कूल शंकर दयाल रोड में न तो रसोईघर है और न ही शौचालय। स्कूल के दो कमरे तो सही हैं, बाकी कमरे जर्जर हो चुके हैं। यहां कुल 116 बच्चों का नामांकन हुआ है। इनमें से 54 बच्चे नए हैं और 62 पुराने। 1विद्यालय में जागरण टीम पहुंची तो प्रधानाध्यापिका मीनाक्षी पांडेय बच्चों को पढ़ाती मिलीं। शहर के मॉडल प्राइमरी स्कूल शंकरदयाल रोड में बच्चों की संख्या तो नियमित रूप से बढ़ रही है लेकिन अभी तक बच्चों को पाठ्य पुस्तकें नहीं मिल सकी हैं। पुरानी पुस्तकों के सहारे बच्चे किसी तरह पढ़ाई कर रहे हैं। यहां नए प्रवेश लेने वाले 54 बच्चों में से सिर्फ 18 को ही स्कूल बैग मिला है।

रसोई घर के अभाव में बच्चों का मिड-डे-मील इसी कैंपस में स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय में बनता है। पढ़ाने के लिए प्रधानाध्यापिका मीनाक्षी पांडेय के अलावा सिर्फ एक शिक्षा मित्र महक की तैनाती है। अभी तक यहां अन्य किसी शिक्षक की तैनाती नहीं हो सकी है। प्रधानाध्यापिका ने बताया कि शौचालय न होने से बच्चों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। विभाग को लिख कर दिया गया है, लेकिन अभी तक इसकी व्यवस्था नहीं हो सकी। 1मॉडल प्राइमरी स्कूल शंकर दयाल रोड में पढ़ते बच्चे।विद्यालय में नया प्रवेश होने पर बच्ची को बैग देती प्रधानाध्यापिका।मध्याह्न् भोजन के लिए लाइन में खड़े बच्चे।जिन विद्यालयों में शौचालय नहीं हैं वहां की सूचना मांगी गई है। ऐसे विद्यालयों में जल्द ही शौचालयों का निर्माण कराया जाएगा। मॉडल प्राइमरी स्कूल शंकर दयाल रोड में रसोईघर का भी निर्माण कराया जाएगा।

ऐसे में कैसे पढ़ें
मॉडल इंटर कालेजों के लिए रिटायर्ड शिक्षक की तलाश में महकमा1संसू, प्रतापगढ़ : जिले के चार पं.दीनदयाल उपाध्याय मॉडल इंटर कालेजों का संचालन बीते अप्रैल माह से राजकीय विद्यालयों के एक-एक शिक्षकों को संबद्ध कर प्रभारी प्रधानाचार्य बनाकर शुरू करा दिया गया। अब उनमें पढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग रिटायर्ड शिक्षकों की खोज कर रहा है। कई बार आदेश निकालने के बावजूद अब तक महज 10 रिटायर्ड शिक्षक ही मिल सके जबकि इन विद्यालयों में पढ़ाने के लिए कुल 68 शिक्षकों की आवश्यकता है। जिले के आसपुरदेवसरा के महुली, शिवगढ़ के कूराडीह, कालाकांकर के मुरस्सापुर कालाकांकर व बाबागंज के महेवा मलकिया में बनकर तैयार पं.दीनदयाल उपाध्याय माडल इंटर कालेज का संचालन अप्रैल माह से कर दिया गया।

इन विद्यालयों में राजकीय विद्यालयों के शिक्षकों को प्रभारी प्रधानाचार्य बनाकर प्रवेश की प्रक्रिया शुरू करा दी गई। एक कालेज में 10 प्रवक्ता व 7 एलटीग्रेड के शिक्षकों के पद सृजित किए गए हैं। इस तरह कुल मिला कर 40 प्रवक्ता व 28 एलटीग्रेड के शिक्षकों की यहां जरूरत है। शासन के आदेश पर शिक्षा विभाग ने रिटायर्ड ऐसे शिक्षकों जिनकी आयु 70 वर्ष से कम थी से, इनमें पढ़ाने के लिए आवेदन मांगे। कई बार मांग के बावजूद यहां मात्र 10 शिक्षक ही मिल सके, जिनमें से कूराडीह व महुली में तीन-तीन तथा मुरस्सापुर व महेवामलकिया में दो दो शिक्षकों की तैनाती कर किसी तरह काम चलाया जा रहा।


इस मॉडल स्कूल में रसोईघर नहीं, शौचालय का भी अभाव, ऐसे में कैसे पढ़ें

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

(cc) Some Rights Reserved. Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget