डेढ़ सौ परिषदीय विद्यालय शिक्षामित्रों के सहारे

जागरण संवाददाता, मीरजापुर : जिले में इन दिनों परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों की समस्या बढ़ गई है। अंतरजनपदीय तबादलों से शिक्षकों की संख्या काफी कम हो गई है। इससे सैकड़ों विद्यालय शिक्षक विहीन हो गए हैं अब वहां पर शिक्षामित्रों के सहारे संचालन हो रहा है। एकल शिक्षक विद्यालय तो पहले भी थे अब उनकी संख्या और बढ़ गई है।

जिले में प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों की संख्या 2309 है। इनमें से 144 विद्यालय शिक्षामित्रों के सहारे चल रहे हैं। करीब तीन सौ विद्यालय एकल शिक्षक हैं। वर्तमान में जिले में परिषदीय विद्यालयों में दो लाख 57 हजार से अधिक विद्यार्थी पंजीकृत हैं। इसी प्रकार लगभग छह से सात हजार के बीच शिक्षक व 24 सौ शिक्षामित्र कार्यरत हैं। सुदूरवर्ती विकास खंड के विद्यालयों में अधिकांश विद्यालय शिक्षक विहीन हैं। यहां पर शिक्षामित्र ही स्कूल संचालन कर रहे हैं। इसी प्रकार तकरीबन तीन सौ विद्यालय एकल शिक्षक हैं अर्थात इन विद्यालयों में एक ही शिक्षक तैनात हैं।

इससे पठन-पाठन का कार्य प्रभावित हो रहा है। 1325 गए मात्र 12 आए - अंतरजनपदीय तबादलों के चलते जिले से 325 शिक्षक गैर जनपदों के लिए स्थनांतरित हुए लेकिन गैर जनपदों से इस जिले में मात्र 12 ही आए। इससे शिक्षकों की तीन सौ से अधिक की कमी हो गई। इससे भी विद्यालयों के संचालन में बाधा आ रही है।

राजकीय कन्या जूनियर हाईस्कूल कोलना में बंद है ताला

शिक्षकों के अंतरजनपदीय तबादलों से बढ़ी समस्या

डेढ़ सौ परिषदीय विद्यालय शिक्षामित्रों के सहारे

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

(cc) Some Rights Reserved. Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget