बेसिक शिक्षा विभाग के राडार पर चिह्न्ति 1128 अवैध विद्यालय

Basic Shiksha Latest News, Basic Shiksha Vibhag News

बेसिक शिक्षा विभाग के राडार पर चिह्न्ति 1128 अवैध विद्यालय

यूनीफार्म पाकर चहके नौनिहाल

मेन्यू के अनुसार बच्चों को नहीं मिल रहा मध्याह्न् भोजन

कोरांव में नौनिहालों का निवाला डकार रहे शिक्षक, समय से भी नहीं आते 1संवाद सूत्र, कोराव : खीरी इलाहाबाद विकासखंड मेजा व कोरांव के प्राथमिक विद्यालय एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में अनियमितता बढ़ गई है। प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालय लोहरा के शौचालय में कूड़े के ढेर लग गए है। वहीं शिक्षक-शिक्षिकाएं भी समय से आते नहीं है और समय से पहले स्कूल बंद कर चले जाते हैं।

इसी प्रकार प्राथमिक विद्यालय कौहट की भी यही स्थिति दिखी। प्राथमिक विद्यालय कैलाशपुरी में करीब सवा आठ बजे जागरण की टीम पहुंची तो बच्चे घूमते मिले। वहां जानकारी दी गई कि शिक्षक रोज स्कूल नहीं आते हैं। आते भी हैं तो समय से नहीं। चूल्हे पर मिड डे मील बनाया जाता है। शौचालय शोपीस बनकर रह गया है। ढेरहन गांव निवासी राजन सिंह ने शिक्षकों पर मनमानी का आरोप लगाया।

प्राथमिक विद्यालय इटावा खुर्द में मौके पर शिक्षामित्र रामराज यादव मिले बाकी के स्टाफ गायब रहा। अभिभावकों का आरोप है कि बच्चों को दूध और फल नहीं दिया जाता है। इसी प्रकार प्राथमिक विद्यालय पनासी बच्चों से जानकारी लेने पर बच्चों ने बताया की हमारे स्कूल में फल दूध और खीर कभी नहीं दिया जाता है। इसी क्रम में प्राथमिक विद्यालय घोरहा के बच्चों के अभिभावकों का आरोप है प्रधानाध्यापिका पहले तो विद्यालय आती ही नहीं यदि आती भी है तो हाजिरी लगाकर तत्काल विद्यालय से घर को लौट जाती हैं। प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालय डीही खूर्द में भी यही समस्या है। कोरांव तहसील के कल्याणपुर गांव निवासी ओम प्रकाश यादव ने बताया की प्राथमिक विद्यालय कल्यानपुर में मवेशी बांधे जाते है। यही हाल करीब अन्य स्कूलों का है।


गैर मान्यता चल रहे विद्यालय को किया गया सीज1संवाद सूत्र, गौहनिया : जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी इलाहाबाद संजय कुमार कुशवाहा एवं खंड शिक्षा अधिकारी चाका डॉ संतोष कुमार यादव के द्वारा सयुंक्त रूप से मुख्यमंत्री समग्र ग्राम बसवार के सेवित क्षेत्र में संचालित प्राथमिक विद्यालय बसवार, बोंगा, मुरली कोट व पूर्व माध्यमिक विद्यालय बसवार का सघन निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान रंगाई पुताई, शौचालय की स्वच्छता, रनिंग वाटर की उपलब्धता, बच्चों के नामांकन के सापेक्ष शत प्रतिशत उपस्थिति के लिए कड़े निर्देश दिए। विद्यालय की संपूर्ण व्यवस्था को समय में पूर्ण कराने की चेतावनी दी गई। साथ ही साथ खंड शिक्षा अधिकारी चाका द्वारा बच्चों की शैक्षिक गुणवत्ता पर विशेष जोर देने हेतु निर्देश दिए गए। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा अपनी पूरी टीम के साथ ग्राम पंचायत बसवार में संचालित गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय एमए पब्लिक स्कूल, मुरलीकोट को सीज कर दिया। वहां अध्ययनरत बच्चों के माध्यम से उनके अभिभावकों को उसके गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय होने के संबंध में बताते हुए नजदीक के परिषदीय विद्यालयों में नामांकन कराने की सलाह दी गई। साथ ही विद्यालय के प्रबंधक व प्रधानाध्यापक को आगे से विद्यालय न खोलने हेतु निर्देश दिए गए। वही आदेश का उलंघन कर विद्यालय खुला पाया गया तो संबंधित के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराते हुए आवश्यक विधिक कार्यवाही करने की चेतावनी दी गई।


अब गैरकानूनी स्कूलों पर शिकंजा कसेगी टीम

प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों का किया गया औचक निरीक्षण

संसू,सोरांव : पूर्व माध्यमिक विद्यालय जमुई में बुधवार को बच्चों को मुॅफ्त ड्रेस वितरित किया गया। ड्रेस पाकर बच्चों के चेहरे खिल उठे। ग्राम प्रधान नरेंद्र कुमार त्रिपाठी उर्फ राजा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा यही बच्चे आने वाले भविष्य में शिक्षित होकर देश की कर्णधार बनेंगे।

उन्होंने बच्चों को शिक्षा के प्रति जागरूक करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। इस अवसर पर विद्यालय प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष रमेश चंद्र, प्रधानाध्यापक गौसिया सुल्ताना, जिला उपाध्यक्ष जूनियर शिक्षक संघ रुद्रप्रताप यादव, फुलेश्वर सिंह, विष्णुप्रताप सिंह, राजेन्द्र पटेल,अजीत कुमार के अलावा काफी संख्या में अभिभावक मौजूद रहे।

सोरांव में बच्चों को बैग व पुस्तक किया गया वितरित

जागरण संवाददाता, इलाहाबाद : अवैध रूप से चल रहे निजी प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों पर जल्द ही कार्यवाही शुरू हो जाएगी। बेसिक शिक्षा विभाग ने जनपद के ऐसे 1128 विद्यालयों को चिह्न्ति किया है जो मानकों के विपरीत संचालित किए जा रहे हैं। इनमें शहरी क्षेत्र के 100 से अधिक विद्यालय शामिल हैं। इसमें अध्ययनरत छात्र-छात्रओं को पास के प्राथमिक विद्यालयों में प्रवेश कराए जाने की योजना है। बुधवार को बेसिक शिक्षा अधिकारी ने छापा मारकर चाका स्थित एमए पब्लिक स्कूल को बंद कराया।

जुलाई में स्कूल खुलने के बाद बेसिक शिक्षा के राडार पर ऐसे 1128 विद्यालय आ चुके थे। ये भी शिक्षा विभाग के नियमों के विपरीत अथवा बिना मान्यता के चल रहे हैं। विद्यालय खुलने के साथ ही अवैध एवं गैर मान्यता प्राप्त विद्यालयों के खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दी। नगर में विभिन्न स्थानों में स्थापित 100 से अधिक स्कूल भी कार्यवाही की जद में जाएंगे। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुशवाहा ने बताया कि शासन की मंशा के अनुसार जनपद में ऐसे विद्यालयों को चिह्न्ति कर बंद करने का अभियान चलाया जा रहा जो बिना मान्यता के चल रहे हैं।

बुधवार को चाका स्थित एमए पब्लिक स्कूल को छापा मारकर बंद कराया गया। इससे पहले भी प्रतापपुर, हंडिया, धनुपुर, मेजा, मांडा और उरुवा आदि में 70 से अधिक विद्यालय बंद कराए जा चुके हैं। जल्द ही नगरीय क्षेत्र में भी अभियान चलाया जाएगा। 132 ने नहीं कराई काउंसिलिंग : दूसरे जनपदों से स्थानांतरित होकर आए 582 शिक्षक-शिक्षिकाओं को बुधवार को पद स्थापना का आदेश जारी कर दिया गया। हालांकि दूरदराज इलाकों में नियुक्ति प्राप्त 32 शिक्षक-शिक्षिकाओं ने आवंटित स्कूलों में ज्वाइन नहीं किया। बेसिक शिक्षा अधिकारी के अनुसार अंतरजनपदीय स्थानांतरण की प्रक्रिया के तहत गत दिनों काउंसिलिंग कराई गई थी। अब सभी के आदेश जारी कर दिए गए।कोरांव में स्कूलों की यह है स्थिति। जजर्र भवन होने के साथ जगह-जगह लगे कूड़े के अंबार।

संसू,होलागढ़: पूर्व में चिह्न्ति दो दर्जन गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई न किए जाने से अब भी बेरोकटोक चल रहे हैं। एबीएसए ने चिह्न्ति स्कूलों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए बुधवार को टीम का गठन किया गया। क्षेत्र में चल रहे दो दर्जन गैरकानूनी स्कूलों के विरुद्ध कार्यवाही न किए जाने से वह धड़ल्ले से संचालित किए जा रहे हैं। बुधवार को खंड शिक्षाधिकारी मनोज राय ने चिह्न्ति स्कूलों के संचालकों को नोटिस जारी कर विद्यालय अविलंब बंद करने का फरमान जारी किया। चेतावनी दी कि यदि भविष्य में कोई भी विद्यालय बिना मान्यता के चलते पाया गया तो उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी। बुधवार को खंड शिक्षा अधिकारी ने एक टीम गठित की। इसमें संकुल प्रभारी राकेश मिश्र, दुर्गा प्रसाद, जितेंद्र पांडेय सहित एक दर्जन अन्य शिक्षकों को नामित किया गया है।

संसू, फूलपुर : जिलाधिकारी इलाहाबाद के निर्देश पर बुधवार को विकास खंड फूलपुर में संचालित 124 प्राथमिक एवं 52 पूर्व माध्यमिक विद्यालयों का खंड विकास अधिकारी सहित सभी सहायक विकास अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी तथा ग्राम पंचायत अधिकारियों की ओर से औचक निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण के दौरान प्राथमिक में 30 तथा पूर्व माध्यमिक स्कूलों नौ शिक्षक शिक्षिकाएं अनुपस्थित रहे। वहीं पूरे विकास खंड में पांच प्राथमिक विद्यालयों में हैंडपंप खराब पाए गए। 20 स्कूलों में शौंचालयों में टाइल्स नहीं लगा हुआ पाया गया। इसी क्रम में साठ स्कूलों में शौचालय के बाहर टैप के साथ हाथ धोने की व्यवस्था नही रही तथा 44 स्कूलों में शौंचालयों में रनिंग वाटर की व्यवस्था नही पाई गई। इसी क्रम में 124 में 68 विद्यालयों में गेट से मुख्य भवन तक इंटर लाकिंग कार्य नहीं पाया गया। 33 विद्यालयों में बांउड्रीवाल नही पाया गया। इसके साथ ही 52 पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में नौ शिक्षक अवकाश पर मिले।


Basic Shiksha Latest News, Basic Shiksha Vibhag News

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

(cc) Some Rights Reserved. Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget