यूपी बोर्ड के मूल रिकार्ड नष्ट करने की दोबारा होगी जांच

यूपी बोर्ड के मूल रिकार्ड नष्ट करने की दोबारा होगी जांच

UP Board ke mul record nasht karne ki dubara hogi jaanch

वरिष्ठ संवाददातायूपी बोर्ड के मूल रिकार्ड बदलने के मामले की दोबारा जांच होगी। दो साल पहले राजकीय इंटर कॉलेज में फर्जी दस्तावेज के सहारे एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती में नौकरी हथियाने के लिए की गई धांधली पर दोबारा जांच के आदेश दिए गए हैं। बोर्ड के सभापति और माध्यमिक शिक्षा निदेशक साहब सिंह निरंजन के आदेश पर बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने नए सिरे से जांच के लिए पिछले सप्ताह कमेटी गठित की है। यूपी बोर्ड के अपर सचिव प्रशासन शिव लाल की अध्यक्षता में दोबारा गठित जांच समिति में अपर सचिव पाठ्यपुस्तक विनोद सिंह और उप सचिव प्रशासन सुधीर कुमार को सदस्य बनाया गया है।


पुरानी जांच रिपोर्ट में दोषी पाये गये इलाहाबाद क्षेत्रीय कार्यालय के चार-पांच बाबुओं के खिलाफ इसी साल अप्रैल अंत में एफआईआर दर्ज होनी थी लेकिन कर्मचारियों के अनुरोध पर निदेशक ने दोबारा जांच के आदेश दिए हैं।राजकीय विद्यालयों की 6645 एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के लिए यूपी बोर्ड के इलाहाबाद क्षेत्रीय कार्यालय के बाबुओं ने कुछ अभ्यथियों को अनुचित लाभ दिलाने के मकसद से फर्जीवाड़ा किया था। आपके अपने अखबार ‘हिन्दुस्तान' ने 13 अक्तूबर 2016 के अंक में इसका खुलासा किया था। तत्कालीन बोर्ड सचिव शैल यादव ने संयुक्त शिक्षा निदेशक महेन्द्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में समिति गठित कर जांच करवाई थी।


UP Board ke mul record nasht karne ki dubara hogi jaanch


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

(cc) Some Rights Reserved. Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget