क्षमता से अधिक बच्चे बैठाए तो खैर नहीं, अभिभावक भीे रहें सचेत

क्षमता से अधिक बच्चे बैठाए तो खैर नहीं

अभिभावक भीे रहें सचेत : एसडीएम पंकज सिंह


यातायात नियमों के प्रति वाहन चालकों को सचेत करने की मुहिम की शुरुआत करते हुए मंगलवार को रुदौली के एसडीएम पंकज सिंह ने शुजागंज बाजार के समीप मार्ग पर क्षमता से अधिक 30 नौनिहाल बच्चों से भरे स्कूल वाहन को पकड़ा। गाड़ी के कागजों में कमी पाई गई। यह स्कूल वाहन जेएफए स्कूल हसनामऊ का बताया गया। जा रहा है।

एसडीएम श्री सिंह ने बताया कि यातायात नियमों के प्रति लापरवाही बरतने वाले किसी भी वाहन चालक को बख्शा नहीं जाएगा। श्री सिंह बाढ़ प्रभावित इलाके का दौरा कर वापस तहसील मुख्यालय आ रहे थे, तभी शुजागंज बाजार के समीप काफी संख्या में बच्चों से भरे छोटे स्कूल वाहन को देखकर दंग रह गए। उन्होंने तुरन्त अपने ड्राइवर से स्कूल वाहन को रोकने को कहा।


इसके बाद उप जिलाधिकारी ने अपनी गाड़ी से उतर कर टाटा मैजिक को रुकवाकर एक- एक बच्चों को बड़े ही आराम से उतरवाया और गिनती कराई, तब पता चला कि स्कूल वाहन में क्षमता से अधिक तीस बच्चे बैठे हैं। एसडीएम ने स्कूल वाहन के ड्राइवर को बुलाकर कागजात दिखाने को कहा। ड्राइवर एथर गांव के निवासी मो. आरिफ पूरे कागजात नहीं दिखा पाया। इसके चलते उपजिलाधिकारी ने विद्यालय के प्रबंध तंत्र को बुधवार को तलब किया है। एसडीएम ने कहा कि नौनिहालों के जान जोखिम में डाल कर भर्राटा भरने वाले स्कूली वाहनों के ड्राइवरों व स्कूल के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

एसडीएम पंकज सिंह ने कहा कि अभिभावक अपने बच्चों को जिन वाहनों में भेजते हैं, उसके प्रति सजग रहें। उन्होंने अभिभावकों से अनुरोध करते हुए कहा कि शिक्षण संस्थाओं के वाहनों में यदि क्षमता के मुताबिक अधिक बच्चे बिठाए जाते हों, या अन्य नियमों की पालन नहीं होता है तो उसे प्रशासन के नोटिस में जरूर लाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि अभिभावक भी नियमों के प्रति सजगता दिखाएंगे तो निसंदेह सड़क हादसों में कमी लाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि प्रशासन का मकसद वाहनों के चालान काटना नहीं है, अपितु नियमों के प्रति वाहन चालकों को जागरूक करना है।


क्षमता से अधिक बच्चे बैठाए तो खैर नहीं, अभिभावक भीे रहें सचेत

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

(cc) Some Rights Reserved. Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget